रायपुर
दुर्ग-अजमेर एक्सप्रेस जैसे ही अनूपपुर रेलवे स्टेशन पहुंची रेलवे सुरक्षा बल की टीम ट्रेन में चेकिंग कर रही थी इसी दौरान यात्रियों से मौखिक शिकायत मिलने के बाद कोच नंबर 1 में दो नाबालिग लड़कियों को बहला-फुसलाकर ले जा रहे दो मानव तस्करों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। दोनों मानव तस्कर नाबालिग युवतों को रायगढ़ से लेकर आए थे और जयपुर में 20-20 हजार रुपये में बेचने वाले थे।

रेलवे से मिली जानकारी अनुसार गाड़ी सं. 18207 दुर्ग-अजमेर एक्सप्रेस के अनूपपुर रेलवे स्टेशन में समय लगभग 23.00 बजे पहुचने पर रेलवे सुरक्षा बल के सदस्यों द्वारा गाड़ी को चेक करने के दौरान यात्रियों की मौखिक शिकायत पर कोच नं. एस.-01 में दो नाबालिग लड़कियों को बहला-फुसलाकर ले जाने की सूचना पर दोनों लड़कियों को ट्रेन से उतारने पर दो अन्य सहयात्री साथ में उतरे। पूछताछ में दोनो लड़कियों तथा दो यात्री कुछ पता नहीं पा रहे थे और दोनो लड़कियां घबराई लग रही थी। सूचना पर थाना प्रभारी निरीक्षक के द्वारा दोनो नाबालिग लड़कियों से पूछताछ करने पर लड़कियों ने बताया कि वे थाना कापू व थाना-धर्मजयगढ़ जिला रायगढ़ के ग्रामीण क्षेत्र की रहने वाली है और उनको दोनों व्यक्ति बहला-फुसलाकर कही ले जा रहे है। एक अन्य व्यक्ति जो ट्रेन से नही उतरा वह भी इसमें शामिल था। तीनों व्यक्तियों द्वारा दोनों लड़कियों को 23 जून को उनके गांव से बहला-फुसलाकर रायगढ़ लेकर आए तथा रायगढ़ से 26 जून को बिलासपुर लेकर आए वहाँ से 27 जून को गाड़ी सं. 18207 में जयपुर ले जा रहे थे। दोनों उतारे गए व्यक्तियों से कड़ाई से पूछताछ करने पर एक व्यक्ति थाना- पत्थलगांव जिला जशपुर तथा अन्य एक व्यक्ति थाना-कापू जिला रायगढ़ का रहने वाला बताया। दोनों ने स्वीकार किया कि दोनो लड़कियों को राजस्थान ले जाकर  20-20 हजार रुपए में बेचते और और एक अन्य व्यक्ति जो ट्रेन से नही उतरा, उस व्यक्ति द्वारा जयपुर में लड़कियों को पहुंचाने पर 20 हजार रुपए देने की बात बताई।

जी.आर.पी./अनूपपुर ने डी.एस.पी./धर्मजयगढ़, टी.आई./धर्मजयगढ़, थाना-कापू (रायगढ़) तथा एडिशनल एस.पी./रायगढ़ से  संपर्क कर लड़कियों की फोटो उनके व्हाट्स-एप पर भेज कर स्थानीय पुलिस थाने से गुमशुदगी तस्दीक कराने पर ज्ञात हुआ कि दोनों लड़कियों को बिना उनके घरवालों को बताए बहला-फुसलाकर ले जा रहे थे। दोनों नाबालिग लड़कियों व दो मानव तस्करों को सड़क मार्ग से रायगढ़ लाया गया और लड़कियों को उनके परिजनों को सौंप दिया गया। वहीं दोनों मानव तस्करों के खिलाफ रायगढ़ पुलिस ने मामला दर्ज कार्रवाई शुरू कर दी है।