नई दिल्ली

पूरे दो साल तक खामोश रहीं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की पूर्व नेता नूपुर शर्मा एक बार फिर एक्टिव हो गईं हैं। तीन दिन में दूसरी बार उन्होंने सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म 'एक्स' के जरिए अपनी बात सार्वजनिक रूप से रखी है। जून 2022 से अब तक पूरी तरह चुप्पी साधे रहीं नूपुर ने अब रियासी आतंकी हमले की आलोचना की है। नूपुर ने कहा कि किसी भी रूप में आतंकवाद को माफ नहीं किया जा सकता है।

रियासी में भक्तों की बस पर आतंकी हमले को लेकर नूपुर शर्मा ने अपना आक्रोश जाहिर करते हुए कहा कि इसे माफ नहीं किया जा सकता है। उन्होंने लिखा, 'किसी भी रूप में आतंकवाद को माफ नहीं किया जा सकता है। मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं। पीड़ित परिवारों के प्रति मेरी संवेदना और घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करती हूं।'

इससे पहले 9 जून को पीएम मोदी के शपथग्रहण के बाद नूपुर शर्मा ने उन्हें बधाई दी थी। यह दो साल में उनका पहली ट्वीट था। नूपुर ने लिखा, 'आज तीसरी बारी आदरणीय नरेंद्र मोदी जी को भारत के प्रधान मंत्री के रूप में शपथ लेते देख अत्यंत प्रसन्नता हुई। फिर एक बार मोदी सरकार सुरक्षित व विकसित भारत की ओर।'

गौरतलब है कि दो साल पहले एक टीवी डिबेट शो के दौरान नूपुर शर्मा ने पैगंबर मोहम्मद साहब को लेकर एक विवादित टिप्पणी की थी, जिस पर खूब बवाल हुआ था। नूपुर को 'सिर तन से जुदा' करने की धमकियां मिलने लगीं। नूपुर को दिल्ली पुलिस की सुरक्षा प्रदान की गई और वह सार्वजनिक जीवन से दूर हो गईं। उन्होंने सोशल मीडिया का इस्तेमाल भी बंद कर दिया। भाजपा ने उन्हें पार्टी से निलंबित कर दिया था।

हालांकि, नूपुर शर्मा अब दोबारा एक्टिव होने का संकेत दे रही हैं। 25 मई को वह भारी सुरक्षा इंतजाम के बीच वोट डालने बूथ पर भी पहुंचीं थीं। अब तीन दिन में दो ट्वीट करके भी उन्होंने 'कमबैक' का इशारा किया है।