नई दिल्ली
महाराष्ट्र के मुख्य चुनाव अधिकारी (सीईओ) श्रीकांत देशपांडे ने जानाकारी देते हुए कहा कि महाराष्ट्र में अब वोटर आईडी कार्ड से आधार कार्ड को जोड़ा जाएगा. इसके साथ ही राज्य चुनाव आयोग अधिकारी देशपांडे ने कहा कि इसके लिए 1 अगस्त 2022 से पूरे राज्य में प्रक्रिया शुरू हो जाएगी.

श्रीकांत देशपांडे ने कहा कि मतदाताओं की पहचान स्थापित करने और मतदाता लिस्ट में प्रविष्टियों के प्रमाणीकरण के लिए यह कदम उठाया जा रहा है. क्योंकि एक से अधिक निर्वाचन क्षेत्रों में या एक ही निर्वाचन क्षेत्र में एक से अधिक बार एक ही व्यक्ति के नाम के पंजीकरण की पहचान करने के लिए अब वोटर आईडी कार्ट को आधार कार्ड से जोड़ा जाएगा. भारत निर्वाचन आयोग 1 अगस्त से पूरे राज्य में मतदाता पहचान पत्र को आधार कार्ड से जोड़ने का अभियान शुरू करेगा.

जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ और जस्टिस एएस बोपन्ना की बेंच ने सुरजेवाला के वकील से पूछा कि वह पहले हाईकोर्ट क्यों नहीं गए. उन्होंने पहले HC का दरवाजा खटखटाने के लिए कहा. कोर्ट ने कहा- 'आप दिल्ली हाईकोर्ट का रुख क्यों नहीं करते? आपके पास एक ही उपाय होगा. आप 2021 के चुनाव कानून (संशोधन) अधिनियम की धारा 4 और 5 को चुनौती दे रहे हैं. आप यहां क्यों आए हैं? आप दिल्ली उच्च न्यायालय जा सकते हैं.

कांग्रेस नेता के वकील ने कहा कि अगले छह महीनों में तीन राज्यों में चुनाव होंगे. बेंच ने कहा कि यदि अलग-अलग याचिकाएं हैं तो शीर्ष अदालत मामलों को एक उच्च न्यायालय के समक्ष जोड़ सकती है. याचिका में कहा गया है कि संशोधन 'दो पूरी तरह से अलग दस्तावेजों (उनके डेटा के साथ), यानी आधार कार्ड को जोड़ने का इरादा रखता है, जो निवास का प्रमाण (स्थायी या अस्थायी) और ईपीआईसी / मतदाता पहचान पत्र है, जो नागरिकता का प्रमाण है. आधार और मतदाता पहचान पत्र का लिंक पूरी तरह से तर्कहीन है.

अपने वोटर आईडी कार्ड को आप बड़ी ही आसानी से आधार कार्ड से लिंक करा सकते हैं. इसके लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही प्रोसेस मौजूद हैं. आइए आपको बताते हैं किन तीन तरीकों से आप अपने आधार कार्ड को वोटर आईडी कार्ड से लिंक कर सकते हैं. इसके लिए नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें.

 

 

 

 

 

SMS के जरिए ऐसे करें लिंक

  •     सबसे पहले अपने फोन पर SMS ऐप ओपन करें
  •     इस फॉर्मेट में मैसेज टाइप करें – <वोटर आईडी नंबर> <आधार नंबर>
  •     166 या 51969 नंबर पर SMS भेजें और आधार- वोटर आईडी को लिंक करने का प्रोसेस शुरू हो जाएगा

नेशनल वोटर सर्विस पोर्टल के जरिए ऐसे करें लिंक

  •     इसके लिए सबसे पहले वोटर पोर्टल पर जाएं। या फिर यहां क्लिक करें.
  •     उसके बाद वहां अपना मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी या फिर वोटर आईडी कार्ड नंबर डालें.
  •     इसके बाद पासवर्ड डाल दें. फिर आपको अपनी व्यक्तिगत जानकारी जैसे नाम, पता, पिता का नाम आदि और राज्य, जिला का नाम सब भरना होगा.
  •     मांगी गई सभी जानकारी भरने के लिए सर्च बटन पर क्लिक कर दें. अगर आपकी तरफ से दी गई डिटेल सरकार के डेटाबेस में दी गई जानकारी के समान होगी तो वो स्क्रीन पर दिखाई देने लगेगी.

    इसके बाद स्क्रीन के लेफ्ट साइड में दिए गए Feed Aadhaar No के ऑप्शन पर क्लिक कर दें.

  •     अब एक पॉप-अप पेज सामने आ जाएगा। यहां आपको आपके आधार कार्ड के अनुसार अपना नाम, आधार नंबर, वोटर आईडी नंबर, रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी डालनी होगी.
  •     सब कुछ भरने के बाद एक बार जांच लें और फिर Submit बटन पर क्लिक कर दें.
  •     ऐसा करते ही आपकी स्क्रीन पर एक मैसेज आ जाएगा, जो आपको बताएगा कि आपका आवेदन रजिस्टर्ड हो गया है.

ऑफलाइन लिंक करने का तरीका

  •     अपने नजदीकी Booth Level Officers से कॉन्टैक्ट करें और लिंकिंग के लिए एप्लीकेशन प्राप्त करें.
  •     एपलीकेशन फॉर्म फिल करें और बूथ लेवल के ऑफिसर को जमा करें.
  •     डिटेल्स को वेरिफाई किया जाएगा और फिर बूथ ऑफिसर एडिशनल वेरिफिकेशन के लिए आपके लोकेशन पर आएगा.
  •     एक बार वेरिफिकेशन प्रोसेस पूरी हो जाने के बाद, आधार और Voter ID को लिंक करने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी.