भोपाल
 नगरीय निकाय चुनाव के लिए जमा कराए गए नामांकन पत्रों का परीक्षण आज सोमवार को किया जाएगा। सभी रिटर्निंग अधिकारी जांच करेंगे। जांच में नियमानुसार जानकारी न पाए जाने पर नामांकन निरस्त किए जाएंगे। जबकि विधिवत जानकारी देने वाले उम्मीदवार चुनाव के लिए पात्र होंगे। उम्मीदवार 22 जून तक अपनी उम्मीदवारी वापस ले सकेंगे। इस बीच उन्हें बी-फार्म भी जमा करना होगा। जिसका बी-फार्म जमा नहीं होगा, वह राजनीतिक दल का अधिकृत उम्मीदवार न होकर निर्दलीय के रूप में चुनाव मैदान में रहेगा।

प्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव की अधिसूचना 11 जून को जारी की गई है। इसके साथ ही नामांकन दाखिल करने का सिलसिला शुरू हुआ, जो 18 जून तक चला। इस दौरान महापौर पद के लिए 197 नामांकन जमा हुए हैं। इनमें 108 पुरुष, 88 महिला व एक थर्ड जेंडर उम्मीदवार शामिल हैं। वहीं पार्षद पद के लिए 34 हजार 314 उम्मीदवारों ने नामांकन दाखिल किए हैं।

इनमें 16 हजार 389 पुरुष, 17 हजार 919 महिला और छह थर्ड जेंडर उम्मीदवार शामिल हैं। जिलों से अभी भी जानकारी आ रही है। इसलिए यह संख्या बढ़ भी सकती है। निर्धारित निर्वाचन कार्यक्रम के तहत सोमवार को सभी रिटर्निंग अधिकारी क्षेत्र में जमा कराए गए नामांकन पत्रों का परीक्षण करेंगे। देर शाम तक यह भी पता चल जाएगा कि त्रुटिपूर्ण जानकारी देने के कारण कितने उम्मीदवारों के नामांकन पत्र निरस्त किए गए हैं। दो दिन बाद नामांकन पत्र वापस लेने की आखिरी तारीख (22 जून) है। इसके बाद नगरीय निकाय चुनाव की तस्वीर साफ हो जाएगी।