नई दिल्ली
 
Murali Vijay Ton In TNPL: भारतीय सलामी बल्लेबाज मुरली विजय को किसी समय में भारतीय टीम का अगला वीरेंद्र सहवाग माना जाता था, मगर लगभग पिछले दो साल से यह खिलाड़ी प्रतिस्पर्धी क्रिकेट से ही दूर है। 2018 ऑस्ट्रेलिया दौरे के बाद इस खिलाड़ी को टीम इंडिया के लिए टेस्ट क्रिकेट खेलने का मौका नहीं मिला, मगर वह 2020 तक महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई वाली चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलते रहे। इसके बाद मानों की क्रिकेट की दुनिया से इस खिलाड़ी का नाम गायब ही हो गया हो, मगर अब TNPL में एक बार फिर मुरली विजय के नाम की गूंज सुनाई दी है।
 

21 महीने बाद प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में वापसी करने वाले मुरली विजय ने शुक्रवार रात नेल्लई रॉयल किंग्स के खिलाफ 66 गेंदों पर 7 चौकों और 12 छक्कों की मदद से 121 रनों की तूफानी पारी खेली, हालांकि वह अपनी टीम को जीत दिलाने में नाकामयाब रहे। नेल्लई रॉयल किंग्स ने पहले बल्लेबाजी करते हुए संजय यादव के शतक और बाबा अपराजित के 92 रनों के दम पर बोर्ड पर 236 रन लगा। लक्ष्य का पीछा करने उतरी रूबी त्रिची वारियर्स 20 ओवर में 7 विकेट के नुकसान पर 170 ही रन बना पाई जिसमें 121 रन मुरली विजय के थे। विजय के अलावा कोई खिलाड़ी 15 रन का आंकड़ा भी पार नहीं कर पाया।
 
इस धुआंधार पारी के दम पर मुरली विजय TNPL में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं, साथ ही उन्होंने एक पारी में सबसे ज्यादा छक्के जड़ने का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया है।