जशपुरनगर
जिले में 58210 तेन्दूपत्ता संग्राहकों 39 करोड़ 68 लाख से अधिक की राशि का किया गया है भुगतानवनवासियों एवं लघुवनोपज संग्राहकों के लिए लघुवनोपज संग्रहण जीवकोपार्जन का महत्वपूर्ण साधन रहा है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व राज्य शासन द्वारा 61 लघु वनोपजों की खरीदी की जा रही है जिससे वन और वनोपज पर आश्रित संग्राहकों को आर्थिक मजबूती मिली है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की विशेष पहल पर वनोपज संग्राहकों को उनकी मेहनत का सही मूल्य दिलाने के लिए लघु वनोपजों के क्रय मूल्य में बढ़ोतरी की गई है। जिले में ग्रामीण क्षेत्र के व्यक्तियों को वनोपज संग्रहण से आर्थिक सहायता प्राप्त हो रही है। जिससे वे अपने परिवार के आजीविका में बढ़ोतरी कर रही है। साथ ही शासन द्वारा तेन्दूपत्ता संग्रहण दर को 2500 प्रति मानक बोरा से बढ़ाते हुए 4000 प्रति मानक बोरा कर दिया गया है। जिससे संग्राहकों में काफी खुशी देखने को मिल रही है।

इसी कड़ी में जिले में 58210 तेन्दूपत्ता संग्राहकों द्वारो विगत 03 वर्षों में 99204.59 मानक बोरा तेन्दूपत्ता का संग्रहण किया गया। जिससे उन्हें राशि रुपए 3968.17 लाख की आय प्राप्त हुई है। साथ ही तेन्दूपत्ता का संग्राहकों के लिए शहीद महेंद्र कर्मा तेंदूपत्ता संग्राहक समाजिक सुरक्षा बीमा योजना शासन द्वारा वर्ष 2020 में संचालित किए गए है। उक्त योजना के तहत जिले के संग्राहक परिवार के 100 हितग्राहियों को 153.10 लाख आर्थिक सहायता प्रदान की गई है। संघ द्वारा संचालित समूह बीमा योजना के तहत 69 हितग्राहियों को 8 लाख 28 हजार की आर्थिक सहायता देने के साथ ही छात्रवृत्ति योजना के तहत संचालित मेधावी, प्रतिभाशाली, व्यावसायिक एवं गैर व्यावसायिक कोर्स में अध्ययनरत कुल 825 छात्रों को 157.198 लाख का आर्थिक सहायता प्राप्त हुआ है।  

ग्रामीण क्षेत्र के संग्राहकों का कहना है कि शासन द्वारा उनके मेहनत का सही मूल्य दिया जा रहा है। जिससे वे वनोपज संग्रहण के लिए और अधिक उत्साहित रहते है। उनका कहना है कि इसके लिए उन्हें सिर्फ शारीरिक मेहनत करनी पड़ती है, इसमें किसी तरह का कोई लागत लगाने की आवश्यकता नहीं पड़ती। और उनके मेहनत का सही मूल्य मिल जाने से उन्हें संग्रहण करने में भी खुशी होती है। सभी संग्राहकों ने तेन्दूपत्ता संग्रहण के दर पर वृद्धि करने के लिए शासन को धन्यवाद ज्ञापित किया है।