नई दिल्ली
 
सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड के मास्टरमाइंड गोल्डी बरार ने एक वीडियो जारी किया है। इसमें वह दावा करता है कि विक्की मिड्दुखेड़ा मामले के बाद गायक ने 2 करोड़ रुपये में समझौते की पेशकश की थी, जिसे उसने ठुकरा दिया। माना जाता है कि गोल्डी बरार कनाडा में कहीं छिपा हुआ है। वीडियो को कम रोशनी में शूट किया गया है। सोशल मीडिया पर पोस्ट वीडियो में गोल्डी अपना चेहरा ढककर बोल रहा है। उसने कहा कि मूसेवाला एक सिख 'शहीद' के तौर पर पेश करने की कोशिश हो रही है, इसीलिए वह वीडियो शूट करने पर मजबूर हुआ।

मूसेवाला शहीद नहीं है- गोल्डी बरार
बरार ने कहा, "वह (मूसेवाला) शहीद नहीं है। अपने गानों के जरिए उसने अपनी छवि बनाई। वह बार-बार गलतियां करता रहा, जिसके लिए उसे दंडित किया गया। हमने भारतीय न्याय प्रणाली के एक्शन लेने का इंतजार किया, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। कानून आम लोगों के लिए है, बड़े सितारों, नेताओं और उनके दोस्तों के लिए नहीं।" गोल्डी बरार ने कहा कि वह मिद्दुखेड़ा हत्याकांड के बाद मध्यस्थों के माध्यम से रहम की भीख मांग रहा था। उन्होंने मुक्तसर के कुछ युवाओं के जरिए हमें अपनी जान के बदले दो करोड़ रुपये देने की पेशकश की, लेकिन हमने इसे ठुकरा दिया।
 
साजिशकर्ता का जाली पासपोर्ट बनाने के मामले में 5 गिरफ्तार
वहीं, दिल्ली पुलिस ने जाली पासपोर्ट हासिल करने में लॉरेंस बिश्नोई के भतीजे की मदद के आरोप में दो महिलाओं समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार, आरोपियों ने जाली पासपोर्ट हासिल करने में बिश्नोई के भतीजे सचिन थापन और अन्य बदमाशों की मदद की। बिश्नोई पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या की साजिश में कथित रूप से शामिल था।