नई दिल्ली

पाकिस्तान टीम के पूर्व ऑलराउंडर मोहम्मद हफीज का मानना है कि पाकिस्तान के शीर्ष क्रम के बल्लेबाज शान मसूद को टेस्ट, वनडे और टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में मौका चाहिए। मसूद इस समय शानदार फॉर्म में हैं और उनको टेस्ट टीम में फिर से जगह मिल गई है, लेकिन वे सीमित ओवरों की स्कीम ऑफ थिंग्स का हिस्सा नहीं हैं। शान मसूद इस समय इंग्लैंड में चल रहे काउंटी सत्र में दमदार फॉर्म में हैं। डर्बीशायर के लिए खेलते हुए 32 वर्षीय बल्लेबाज शान मसूद ने काउंटी चैंपियनशिप के डिवीजन टू में सात मैचों में 991 रन बना लिए हैं और वे इस सीजन के सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं। शान मसूद ने 90.09 की औसत से तीन शतक और चार अर्धशतक अब तक काउंटी चैंपियनशिप में जड़े हैं। उन्होंने टी20 ब्लास्ट में प्रभावित किया, जहां उन्होंने 13 मैचों में 46.90 के औसत और 142 के स्ट्राइकरेट से 516 रन बनाए हैं, जिसमें पांच अर्धशतक शामिल हैं।
 
क्रिकेट पाकिस्तान से बात करते हुए मोहम्मद हफीज ने कहा, "पीसीबी चयन समिति को शान मसूद के प्रदर्शन का उपयोग करना चाहिए और उसे पाकिस्तान के लिए खेल के तीनों प्रारूपों में समायोजित किया जाना चाहिए।" चयनकर्ताओं के लिए मसूद की फॉर्म को नजरअंदाज करना बहुत कठिन रहा है, क्योंकि उन्हें श्रीलंका के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की सीरीज के लिए टेस्ट टीम में वापस बुलाया गया था।

आपकी जानकारी के लिए बता दें, शान मसूद ने पाकिस्तान के लिए आखिरी टेस्ट मैच जनवरी 2021 में खेला था। इसके बाद से वे पाकिस्तान के सेटअप का हिस्सा नहीं हैं। इसके अलावा मसूद मार्च 2019 में पाकिस्तान के लिए आखिरी वनडे मैच खेलने उतरे थे। उन्होंने पाकिस्तान के लिए एक भी टी20 इंटरनेशनल मैच नहीं खेला है। ये दर्शाता है कि पाकिस्तान के चयनकर्ता उनको मल्टी फॉर्मेट का प्लेयर नहीं मानते हैं।