लखनऊ
 योगी सरकार के मंत्रियों के हालिया दौरे में आई शिकायतों का समाधान करने में अब अधिकारियों को ज्यादा सतर्कता बरतनी पड़ेगी। ऐसा इसलिए क्योंकि उनके द्वारा किए गए दावे न केवल लिखित में होंगे बल्कि ऑनलाइन भी उपलब्ध होंगे। इस तरह उनके दावों की परख अब आसानी से व जल्द हो सकेगी। क्योंकि सब रिकार्ड में रहेगा और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद इस पर निगाह रखेंगे।

योगी सरकार ने विकास कार्यों में तेजी के लिए नया निर्णय लिया है। इसके तहत मंत्रियों ने अपने जिलों का दौरा कर उससे संबंधित रिपोर्ट सीएमआईएस पोर्टल पर अपलोड कर दी। अब संबंधित अपर मुख्य सचिवों व प्रमुख सचिवों को अपने-अपने विभाग के मंत्रियों द्वारा भेजी गई रिपोर्ट पढ़ कर उसमें आई शिकायतों का निपटारा कराना होगा। इसके बाद इसे उसी ऑनलाइन पोर्टल पर अपलोड करना होगा। पोर्टल पर आख्या विंडो पर क्लिक कर उस पर समाधान को फीड कराया जाएगा। जिले स्तर पर डीएम संबंधित समस्याओं का समाधान करा कर रिपोर्ट अपलोड करेंगे।

उपचुनाव बाद फिर मंत्रियों का शुरू होगा मंडल
मंत्रियों के समूह का मंडलवार एक दौरा पूरा हो गया है। अब दूसरे चरण में कुछ मंत्री दौरा कर आए हैं। लोकसभा उपचुनाव के कारण यह दौरा रुक गया। अब फिर मंत्री निकलेंगे। इस बार मंत्रियों के मंडल बदल गए हैं। इस कारण मंत्रियों की रिपोर्ट दूसरे पोर्टल पर फीड होगी तो पता चलेगा कि पहले चरण के दौर के बाद अधिकारियों ने समस्याओं का निपटारा किस हद तक कराया। इससे अधिकारियों के जिलों में जमीनी हकीकत व दावों का मिलान हो सकेगा। इससे साफ होगा कि अधिकारियों ने योगी सरकार की इस पहल को कितनी गंभीरता से लिया।