ग्वालियर

उपनगर मुरार में बीते रोज एसबीआई का एटीएम ब्रेक कर उसमें से कैश निकालने के बाद आग लगाकर भागने की वारदात किसी और ने नहीं, बल्कि कुख्यात मेवात गैंग द्वारा ही अंजाम दी गई है। सीसीटीवी फुटेज से गैंग द्वारा इस्तेमाल किए गए वाहन और रूट की तस्दीक होने के बाद आरोपियों की तलाश हेतु पुलिस टीमें दिल्ली की तरफ रवाना हो गई हैं।

यहां बता दें कि बीते रोज मुरार थाना क्षेत्रांतर्गत बैजल कोठी में लगे एटीएम को तोड़कर उसमें से कैश निकालने के बाद मशीन में आग लगाने की घटना हुई थी। एटीएम मेंटेनेंस का काम करने वाली कंपनी के कारिंदे की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर मामले की विवेचना शुरू कर दी थी। पुलिस ने जब आरोपियों का पता लगाने के लिए एटीएम बूथ के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज चेक किए, तो उसमें स्पष्ट हुआ कि वारदात में चार बदमाश शामिल थे। जो क्रेटा कार से आए थे। कार को कुछ दूरी पर रोककर एक बदमाश मुंह कवर कर एटीएम बूथ तक पहुंंचा, जिसने एटीएम मशीन ब्रेक कर उसमें से कैश समेटा, इसके बाद मशीन में आग लगाई, और वापस कार में सवार होकर साथियों सहित भाग निकला। बताया गया है कि पूरी वारदात के दौरान शेष तीन बदमाश कार में ही बैठे रहे। एटीएम से कैश निकालकर यह लोग दिल्ली रूट पर निकल गए। वारदात करने का तरीका और आरोपियों के भागने का रूट देखकर पुलिस का मानना है कि इसमें मेवात गैंग ही शामिल है। चूंकि इससे पूर्व भी यह गैंग इसी तरह की वारदातें कर चुकी है, और ग्वालियर पुलिस उनकी मांद में घुसकर आरोपियों को दबोचकर ला चुकी है। जिससे पुलिस को मेवात गैंग के काम करने का ढंग और पता-ठिकाना पहले से ही पता है। ऐसे में एसपी अमित सांघी ने एटीएम ब्रेक की इस घटना को गंभीरता से लेते हुए पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीमों को आरोपियों की घेराबंदी करने के लिए दिल्ली की तरफ रवाना कर दिया है।

तीन दिन पहले छतरपुर में ब्रेक किया एटीएम
मुरार में एसबीआई का एटीएम जिस मेवात गैंग द्वारा ब्रेक किया गया है, तीन दिन पहले इसी गैंग ने छतरपुर में एटीएम ब्रेक की वारदात को अंजाम दिया था। वहां से लौटते वक्त गैंग मेंबर्स ग्वालियर में इंटर होकर एसबीआई का एटीएम ब्रेक कर कैश समेटकर भाग निकले।