उज्जैन
 लाेकायुक्त ने 12 हजार रुपये रिश्वत लेते हुए पटवारी नितिन खत्री को उसके महाकाल वाणिज्य केंद्र स्थित निजी कार्यालय से गिरफ्तार किया है। आरोपित पटवारी ने एलआइसी से सेवानिवृत्त अधिकारी से जमीन की नपती व नामांतरण के एवज में घूस मांगी थी। 9 माह से आरोपित पटवारी उसे परेशान कर रहा था।

लोकायुक्त निरीक्षक राजेंद्र वर्मा ने बताया कि हरिओम विहार कालोनी निवासी रवींद्र देशपांडे एलआइसी से सेवानिवृत्त हैं। देशपांडे ने कुछ समय पूर्व पत्नी रेणुका के नाम पर मोहनपुरा में करीब पौने दो बीघा जमीन खरीदी थी। जिसका नामांतरण व नपती करने के लिए देशपांडे ने 9 माह पूर्व आवेदन दिया था। मगर पटवारी नितिन खत्री देशपांडे से 15 हजार रुपये रिश्वत की मांग कर रहा था। इस पर देशपांडे ने लोकायुक्त को शिकायत की थी।