लखनऊ
 
लखनऊ विकास प्राधिकरण (एलडीए) को अपने ही चूना लगा रहे हैं। लखनऊ में वजीरगंज पुलिस ने एलडीए के कनिष्ठ लिपिक पवन कुमार के साथ मिलकर एलडीए की जमीन हड़पने वाले ठग को गिरफ्तार किया है। आरोपी रजिस्ट्री के वक्त गवाह बना था। ठाकुरगंज पुलिस ने लेफ्टिनेंट कर्नल से 46 हजार रुपये वाले ठग को दबोचा है। इंस्पेक्टर राजकिशोर पाण्डेय के मुताबिक रेजीडेंसी तिराहे के पास बाराबंकी सादुल्लापुर निवासी सत्यदेव मिश्रा को गिरफ्तार किया गया है।

आरोपी पर सात जनवरी 2022 को नजूल अधिकारी आनन्द कुमार सिंह ने फर्जी रजिस्ट्री में गवाही का केस दर्ज कराया था। इस धोखाधड़ी का मुख्य आरोपी एलडीए कर्मी पवन कुमार है, जिसे गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। वहीं, ठाकुरगंज पुलिस ने आलमबाग सरदारीखेड़ा निवासी अनुपम श्रीवास्तव को पकड़ा है। आरोपी ने लेफ्टिनेंट कर्नल हयातउल्ला खां को बालागंज में दुकाने दिलवाने का भरोसा दिया था। इसके बदले 46 लाख रुपये अनुपम ने लिए थे। दुकान नहीं मिलने पर हयातउल्ला ने 10 मार्च को ठाकुरगंज थाने में अनुपम के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। इंस्पेक्टर ने बताया कि घंटाघर के पास से आरोपी को पकड़ा गया है।