लखनऊ
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को दिल्ली में केंद्रीय मंत्रियों व अधिकारियों के साथ मथुरा ब्रज क्षेत्र के विकास की विभिन्न योजनाओं पर मंथन किया। इस दौरान तय किया गया है कि ब्रज चौरासी कोसी परिक्रमा मार्ग को दो लेन एवं चार लेन जहां जैसी भी भूमि उपलब्ध होगी, उसी के मुताबिक विकसित किया जाएगा। वहीं बैठक में मथुरा-वृंदावन के बीच 1000 करोड़ रुपये से लाइट रेल चलाने की योजना को मंजूरी दी गई। बैठक में अपर मुख्य सचिव गृह और धर्मार्थ कार्य अवनीश अवस्थी और ब्रज तीर्थ विकास परिषद मथुरा के उपाध्यक्ष शैलजा कांत मिश्रा उपस्थित थे।

अवनीश अवस्थी ने कहा कि बैठक में मथुरा-वृंदावन रेल मार्ग परियोजना पर विचार-विमर्श किया गया। रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव ने बताया कि इस परियोजना पर मंडल रेल प्रबंधक आगरा के यहां गतिशक्ति यूनिट स्थापित कर दी गई है। वह शीघ्र ही मथुरा-वृंदावन लाइट रेल योजना शुरू करने के लिए डीपीआर बनाने का कार्य करेगी। यह परियोजना लगभग 1000 करोड़ रुपये की होगी। इससे श्रद्धालु बिना ट्रैफिक जाम से सुगमता से मथुरा से वृंदावन आ-जा सकेंगे।

केंद्रीय मंत्री पत्तन जहाजरानी एवं जलमार्ग सर्वानंद सोनेवाल ने बताया कि वृंदावन से गोकुल तक जलमार्ग बनाने का कार्य करने के लिए सहमत हैं परंतु नौका एवं उसके संचालन का काम प्रदेश सरकार को करना होगा। केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री जी. किशन रेड्डी से उपाध्यक्ष ब्रज तीर्थ विकास परिषद द्वारा अनुरोध किया गया कि परिषद द्वारा चंद्रसरोवर गोवर्धन, रसखान समाधि महावन पर एक-एक ओपन एयर थियेटर बनाया गया है। इन स्थानों को संस्कृति मंत्रालय के वार्षिक कलेंडर पर लेकर प्रत्येक वर्ष दो-दो समारोह आयोजित करना उपयुक्त होगा।

सीएम योगी 10 लाख से अधिक ग्रामीणों को आज सौपेंगे घरौनी प्रमाणपत्र: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 25 जून को स्वामित्व योजना के तहत 1081062 ग्रामीणों को डिजिटल माध्यम से उनके आवास का मालिकाना हक दिलाने वाला दस्तावेज यानी ग्रामीण आवासीय अभिलेख घरौनी प्रमाण पत्र सौंपेंगे। अभिलेखों को तैयार करने के लिए 1,10313 ग्रामों को चिन्हित किया गया है।