मुंबई

'सेक्रेड गेम्स' फेम कुब्रा सैत इन दिनों अपनी किताब Open Book : Not Quite a Memoir को लेकर चर्चा में है। इस किताब में कुब्रा सैत ने अपनी जिंदगी से जुड़े कई पहलुओं से पर्दा उठाया है। अब कुब्रा सैत ने खुद खुलासा किया है कि वह वन नाइट स्टैंड के बाद प्रेग्नेंट हो गई थीं और उन्हें अबॉर्शन करवाना पड़ा था। ऐक्ट्रेस ने ये भी कहा कि उन्हें इसका कोई पछतावा नहीं है। इससे पहले कुब्रा सैत ने खुलासा किया था कि 17 साल की उम्र में उन्हें उनके परिवार के करीबी एक अंकल से यौन शोषण किया था।

कुब्रा सैत की किताब में कुल 24 चैप्टर्स हैं। कई अध्यायों में उन्होंने बताया है कि कैसे उन्होंने विकट परिस्थितयों का सामना किया और अंत में एक चैप्टर है जिसका शीर्षक है 'मैं उस समय एक मां बनने के लिए तैयार नहीं थीं।' इस चैप्टर में Kubbra Sait ने साल 2013 की अंडमान ट्रिप के बारे में बताया। उस समय ऐक्ट्रेस की उम्र 30 साल की थी।

ट्रिप पर वन नाइट स्टैंड

कुब्रा सैत ट्रिप पर अंडमान गई थीं और स्कूबा ड्राइव व एन्जॉय करने के बाद वह एक दोस्त के साथ इंटीमेट हो गई थीं। उस समय उन्हें अंदाजा तक नहीं था लेकिन कुछ समय बाद उन्हें मालूम पड़ा कि उनके पीरियड्स मिस हो गए हैं और उन्होंने जब प्रेग्नेंसी टेस्ट करवाया तो पता चला कि वह गर्भवती हैं।

नहीं थी जिम्मेदारियां लेने के लिए तैयार

 इसी बारे में बात करते हुए कुब्रा सैत ने बताया कि मैं उस समय मां बनने के लिए बिल्कुल तैयार नहीं थी। इसी वजह से मैंने अबॉर्शन यानी गर्भपात करवाने का फैसला लिया। उस समय मैं अपने करियर और मां बनने की जिम्मेदारियों को संभाल नहीं सकती थी।

नहीं है कुब्रा सैत को अबॉर्शन करवाने का पछतावा

कुब्रा सैत ने अबॉर्शन को लेकर कहा कि, मैं एक इंसान के तौर पर भी इस जिम्मेदारी के लिए तैयार नहीं थी। मुझे नहीं लगता कि मैं अभी भी इस जिम्मेदारी के लिए तैयार हूं। मुझे नहीं समझ आता है कि ये भला कौन सा रूल हुआ कि 23 में शादी और फिर 30 में बच्चे करना। मुझे पता था कि मैं उस समय मां बनने के लिए तैयार नहीं थीं और इसीलिए मुझे आज भी अपने गर्भपात करवाने के फैसले पर पछतावा नहीं है।

कितना मुश्किल था गर्भपात का फैसला लेना?

कुब्रा सैत ने बताया कि मुझे उस दौरान बहुत डर लगा और मुझे बहुत बुरा भी लग रहा था। लेकिन वो च्वाइस मेरे लिए थी। कभी कभी खुद के लिए फैसले लेना मुश्किल हो जाता है। लेकिन ये करना पड़ता है और आपको करना भी चाहिए।

आखिर क्यों किताब में सब जाहिर किया?
ऐक्ट्रेस से जब पूछा गया कि आपने अपनी पर्सनल लाइफ के इतने बड़े फैसलों को किताब में संजोने का कैसे तय किया तो कुब्रा ने बताया, जब मैं बुक लिख रही थीं तो मैं खुद में ही क्लियर होती जा रही थीं। मैं राइटिंग में बहुत सहज महसूस कर रही थीं और अपने ये सब शेयर किया।