नई दिल्ली
 भारतीय पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की गिनती दुनिया के बेस्ट फिनिशर में की जाती है। अंतिम ओवरों में जब धोनी मैदान पर होते थे तो विपक्षी टीम के गेंदबाजों पर दबाव साफ देखने को मिलता था, धोनी किसी भी स्थिति से टीम को मैच जीताना बखूबी जानते थे। यही वजह है उनके रिटायरमेंट के बाद भी दिग्गज क्रिकेटर धोनी का उदहारण देकर अन्य क्रिकेटरों को आगे बढ़ने की राह दिखाते हैं। हाल ही में ऑस्ट्रेलियाई पूर्व क्रिकेटर माइकल बेवन ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर धोनी की आईसीसी रैंकिंग की एक तस्वीर पोस्ट कर बताया है कि उनकी तरह अच्छा क्रिकेटर बनने के लिए खिलाड़ियों को किस चीज की जरूरत है।
 
2004 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू करने वाले एमएस धोनी ने 2006 से लेकर 2015 तक लगातार 10 साल आईसीसी वनडे रैंकिंग पर राज किया था। इन 10 सालों में यह खिलाड़ी कभी टॉप 10 से बाहर नहीं हुआ। इस दौरान धोनी 2 बार नंबर 1 और कुल 7 बार टॉप 5 में रहे। लगातार 10 साल आईसीसी रैंकिंग पर राज करने वाले धोनी एकमात्र भारतीय खिलाड़ी हैं।

धोनी की आईसीसी रैकिंग की तस्वीर को पोस्ट करते हुए बेवन ने लिखा "धोनी एक शानदार फिनिशर थे। उनकी तरह अच्छा बनने के लिए आपको महान गुणों के संयोजन की आवश्यकता है। एक संभवतः दूसरों की तुलना में अधिक महत्वपूर्ण है। रणनीति – हर परिस्थिति में उपलब्ध सर्वश्रेष्ठ शॉट को चुनने से आपको अपनी टीम के लिए मैच जीतने में मदद मिलेगी।" धोनी के अंतरराष्ट्रीय करियर की बात करें तो उन्होंने 90 टेस्ट 350 वनडे और 98 टी20 मुकाबले खेले जिनमें क्रमश: 4876, 10773 और 1617 रन बनाए। धोनी का वनडे में औसत 50.58 का रहा वहीं टेस्ट और टी20 में उन्होंने 38.09 और 37.60 से रन बनाए।