लुधियाना
दुष्कर्म मामले में फरार चल रहे पूर्व विधायक सिमरजीत सिंह बैंस पर शिकंजा कसना शुरू हाे गया है। अदालत ने बैंस के भाई कर्मजीत सिंह को वीरवार काे 14 दिन के ज्यूडिशियल रिमांड पर जेल भेज दिया है। थाना डिवीजन नंबर छह की पुलिस ने कर्मजीत सिंह बैंस का एक दिन का पुलिस रिमांड मांगा था। पुलिस ने अदालत से कहा था कि अभी तक मोबाइल नहीं मिला है और मोबाइल रिकवर करने के लिए उन्हें एक दिन का पुलिस रिमांड और चाहिए, जिसे दरकिनार करते हुए अदालत ने कर्मजीत सिंह को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

बैंस की गिरफ्तारी के लिए पुलिस तीन माह से कर रही प्रयास
गाैरतलब है कि पुलिस ने बीते शनिवार को उसे गिल स्थित फैक्ट्री से काबू किया था। पुलिस ने अदालत को बताया कि वे आरोपित इस केस में अहम सुबूत वह मोबाइल हासिल करना चाहती है जिससे उनकी चैट होती थी। इस मामले में कर्मजीत बैंस के अलावा प्रापर्टी डीलर सुखचैन सिंह को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। गौरतलब है कि बैंस की गिरफ्तारी के लिए पुलिस तीन माह से कोशिश कर रही है।

पंजाब चुनाव में गर्माया था दुष्कर्म का मामला
सुप्रीम कोर्ट से जमानत याचिका खारिज होने के बाद पुलिस पूरी तरह सक्रिय हो गई है। माना जा रहा है कि बैंस अदालत में आत्मसमर्पण करना चाहते हैं जबकि पुलिस गिरफ्तार करना चाहती है। पंजाब विधानसभा चुनाव के दाैरान यह मामला काफी सुर्खियाें में रहा था। मारपीट के एक मामले में चुनाव के दाैरान बैंस काे गिरफ्तार भी कर लिया था, लेकिन बाद में उन्हें जमानत मिल गई। सिमरजीत सिंह बैंस लाेक इंसाफ पार्टी के अध्यक्ष हैं। इस बार चुनाव में उन्हें करारी हार का सामना करना पड़ा था।