कानपुर
उत्तर प्रदेश के कानपुर में सोमवार की रात बुजुर्ग दंपत्ति की गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले का पुलिस ने 24 घंटे में ही खुलासा कर दिया है। पुलिस ने बताया कि गोद ली हुई बेटी ने ही अपने प्रेमी और उसके दोस्तों के साथ मिलकर मां-बाप को मौत के घाट उतारा। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर जब पुलिस ने कड़ाई से पूछताछ की तो उसने पूरा राज खोल दिया। पुलिस ने आरोपी बेटी को गिरफ्तार कर लिया है और अन्य आरोपियों की तलाश में जुटी है। पुलिस कमिश्नर विजय मीणा के मुताबिक, यह पूरी साजिश संपत्ति के लिए रची गई थी।

 कानपुर के बर्रा थाना क्षेत्र के यादव मार्केट इलाके में रिटायर्ड ऑर्डिनेंस कर्मी और उसकी पत्नी की हत्या कर दी गई थी। बेटी कोमल उर्फ आकांक्षा ने पहले जूस में नशीला पदार्थ मिलाया, फिर अपने प्रेमी और उसके दोस्तों को घर में दाखिल करवाया। हत्याकांड में कोमल का साथ उसके प्रेमी ने भी दिया।
 

मुन्ना सिंह ने एक साल की कोमल को अपने रिश्तेदार से गोद लिया था। वह उसे अपनी बेटी की तरह रखते थे। बेटी बड़ी हुई तो संपत्ति के लिए अपने मां-बाप समेत अपने भाई की भी दुश्मन बन गई। कोमल ने साजिश के तहत घर में सभी को अनार का जूस पिलाया। जूस में बेहोशी की दवा की अधिक मात्रा होने के चलते भाई को उल्टियां हुईं। वहीं, बुजुर्ग दंपत्ति पर नशे की दवा का पूरा असर हुआ, जिसके बाद कोमल ने दोनों के हाथ पैर बांधकर पहले उनका गला दबाया और फिर भी जब उनकी मौत नहीं हुई तो चाकू से गला रेत कर उनकी नृशंस हत्या कर दी।