जयपुर

राजस्थान के उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल की हत्या से पूरे देश में गम और गुस्से का गुबार है। वहीं, सियासी दल भी इस घटना पर गुस्सा दिखा रहे हैं। जयपुर में बीजेपी नेता राज्यवर्धन सिंह राठौड़ जब प्रेस कॉन्फ्रेंस करने पहुंचे तो उनका गुस्से से तमतमाया चेहरा साफ दिख रहा था। उन्होंने उदयपुर की घटना के लिए राज्य की अशोक गहोलत सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए हमला बोला। दरअसल, ये गुस्सा केवल राज्यवर्धन का नहीं है। खुद गहलोत सरकार के मंत्री प्रताप सिंह खचरियावस भी इस हमले को लेकर बेहद आहत दिखे और हत्यारों को फांसी की सजा देने की मांग कर दी है।

लाल चेहरा, सुर्ख आंखें
आम तौर पर सौम्य व्यवहार रखने वाले राज्यवर्धन गुस्से ले लाल दिख रहे थे। उनकी सुर्ख आंखें बता रही थीं कि वो इस घटना से कितने आहत हैं। उन्होंने कहा कि जब किसी दूसरे समुदाय का त्योहार होता है तो राज्य सरकार नोटिस निकालती है। जब इनके कट्टरपंथी जुलूस निकालते हैं तो उन्हें खुली छूट दी जाती है। खुफिया एजेंसियों का इस्तेमाल केवल राजनीतिक दलों के खिलाफ किया जाता है।

जेहादियों के हौसले तो बुलंद होंगे ही
जब राज्यवर्धन प्रेस कॉन्फ्रेंस में पहुंचे तो उनका चेहरा गुस्से से तमतमाया दिख रहा था। उन्होंने राज्य की अशोक गहोलत सरकार पर ताबड़तोड़ हमले बोले। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार तुष्टिकरण की राजनीति कर रही है। उन्होंने कहा कि बूंदी के एंदर एक मौलाना ने खुलेआम लोगों के गर्दन अलग करने का आह्वान किया, कुछ नहीं हुआ। जोधपुर में दीपक नामक एक शख्स की हत्या हुई, परिवार नाम बताता रहा, राजस्थान पुलिस ने कुछ नहीं किया। जब ऐसा होगा तो जेहादियों के हौसले तो बुलंद होंगे ही।