जयपुर
एनडीए की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू 12 जुलाई को जयपुर दौर पर आएंगी। राजस्थान के विधायक और सांसदों से समर्थन मांगने आ रहीं मुर्मू हवाई अड्डे से आमेर क्लार्क्स होटल तक करीब तीन किलोमीटर का रोड शो करेंगी। रास्ते में फूलों की बारिश कर उनका स्वागत किया जाएगा। होटल क्लार्क्स आमेर में सांसदों व विधायकों, जनप्रतिनिधियों और आदिवासी समाज के नेताओ, रिटायर्ड अफसरों, डाक्टर, वकील, रिटायर्ड ब्यूरोक्रेट्स के साथ उनकी चाय पर चर्चा होगी।

राजस्थान विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने भाजपा, राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी और भारतीय ट्राइबल पार्टी के विधायकों को 12 जुलाई को जयपुर बुलाया है। इस दौरान मुर्मू अपने पक्ष में मतदान की अपील करेंगी। पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, संसदीय कार्य राज्यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल और कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी भी इस मौके पर मौजूद रहेंगे।

भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष जितेंद्र मीणा ने कहा कि आजादी के बाद पहली बार आदिवासी समाज की महिला को राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी का सम्मान मिला है। आदिवासी समाज का गौरव बढ़ा है। उन्होंने बताया कि मुर्मू का आदिवासी और राजस्थानी संस्कृति से भव्य स्वागत किया जाएगा। रोड शो के दौरान रास्ते में गवरी नृत्य, जनजाति समाज के गायक कलाकारों की रंगारंग प्रस्तुतियां होंगी। लोक नृत्य-संगीत के साथ पुष्प वर्षा होगी। लड्डू बांटकर मुंह आदिवासियों का मीठा करवाया जाएगा।

गौरतलब है कि द्रौपदी मुर्मू का जन्म 20 जून 1958 को हुआ था। उनके पिता का नाम बिरंची नारायण टुडू और पति का नाम श्याम चरम मुर्मू है। द्रौपदी मुर्मू ओडिशा की संथाल परिवार से आती हैं। मयूरभंज जिले के कुसुमी ब्लॉक के उपरबेड़ा गांव में उनका लालन-पालन एक आदिवासी परिवार में हुआ। द्रौपदी मुर्मू ने 1997 में अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत की। द्रौपदी मुर्मू ओडिशा के राजरंगपुर जिले में पहली बार पार्षद चुनी गईं। इसके बाद बीजेपी की ओडिशा ईकाई की अनुसूचित जनजाति मोर्चा की उपाध्यक्ष बनीं थीं।