नई दिल्ली
इजराइल के वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि भारत में कोरोना का नया वैरिएंट सामने आया है। कोरोना का नया वैरिएंट BA.2.75 भारत के 10 राज्यों में है। वैज्ञानिक शे फ्लेशन जोकि सेंट्रल वीरोलॉजी लैबोरेटरी ने ट्वीट करके कहा कि अभी तक BA.2.75 के 85 सीक्वेंस अपलोड किए जा चुके हैं जोकि मुख्य रूप से भारत के 10 राज्यों और 7 देशों के हैं। भारत के बाहर ट्रांसमिशन को सीक्वेंस के आधार पर अभी तक ट्रेस नहीं किया जा सका है। शे ने बताया कि 2 जुलाई को महाराष्ट्र में 27 केस सामने आए, पश्चिम बंगाल में 13 केस, दिल्ली और जम्मू-कश्मीर में 1-1,हरियाणा में 6, हिमाचल प्रदेश में 3, कर्नाटक में 10, मध्य प्रदेश में 5, तेलंगाना में 2 केस सामने आए हैं। कुल मिलाकर मामले BA.2.75 के भारत में सामने आ चुके हैं।

 
जीनोमिक डाटा इकट्ठा करने वाली संस्था नेक्स्टस्ट्रेन का कहना है कि भारत के अलावा 7 अन्य देशों में भी कोरोना का नया वैरिएंट सामने आया है। शे ने लिखा कि ऐसा पहली बार है जब सेकेंड जेनरेशन वैरिएंट जोकि किसी एक देश में सामने आया और दूसरे देश में फैला है। हालांकि अभी यह कहना जल्दबाजी होगी कि BA.2.75 आने वाले समय में बहुत ज्यादा प्रभावी होगा। आने वाले समय में यह पता चलेगा कि यह कितना खतरनाक है। वहीं कोरोना के इस नए वैरिएंट पर भारत का कहना है कि अभी इसको लेकर चिंता करने की जरूरत नहीं है। आईसीएमआर के वैज्ञानिक डॉक्टर समीरन पांडा ने बताया कि यह सामान्य खोज है, संक्रमण लंबा खिच रहा है इसलिए इसके वैरिएंट तो आएंगे ही, यह अपना स्वरूप बदलेंगे। हालांकि उन्होंने कहा कि इस राहत की बात है क यह संक्रमण अधिक खतरनाक नहीं है,लोगों को अस्पताल में भर्ती नहीं कराना पड़ रहा है