कटनी

 प्रदेश सरकार की महत्वपूर्ण योजना बरगी व्यपवर्तन योजना जिसका निर्माण नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण द्वारा कराया जा रहा है। इस योजना के माध्यम से प्रदेश के चार जिलों में सिंचाई का काम होना है। जबलपुर जिले में योजना का लाभ तो मिलने लगा है, लेकिन अभी कटनी, सतना व रीवा जिला वंचित हैं। इसकी मुख्य वजह रही है कि स्लीमनाबाद के समीप सलैया फाटक व खिरहनी में भयंकर पहाड़ को काटकर सुरंग के माध्यम से टनल बनाने में देरी होना। 2008 से काम चल रहा है, लेकिन तकीनीकी खामियों के कारण योजना लेट हुई। अब तीनों जिलों लाखों किसानों के लिए राहत भरी खबर है। बाधा दूर हो गई है और अब काम दु्रत गति से चल रहा है। बता दें कि 5200 करोड़ रुपऐ का यह प्रोजेक्ट है, 3200 करोड़ रुपए खर्च हो चुके हैं। खास बात यह है कि इसमें सीधे सीएम शिवराज सिंह चौहान नजर बनाए हुए हैं।

जानकारी के अनुसार 11.95 किलोमीटर लंबी टनल पहाड़ में सुरंग बनाकर तैयार की जा रही है। अभी तक 8.7 की नहर बन गई है। 3.3 किलोमीटर का काम बाकी है, जो तेजी से चल रही है। बता दें कि 104 किलोमीटर से लेकर 116 किलोमीटर लंबाई की बनी हुई है। 12 किलोमीटर की टनल बनी है, इसके पहले एक किलोमीटर की टनल में पांच साल लग गए थे जिसमें सवा तीन साल का टेंडर दिया गया था। समय पर काम नहीं पूरा हो पाया था। वहीं अब 12 किलोमीटर के लिए तीन साल का ही समय दिया गया, जिसमें तेजी से काम चल रहा है।

समझी बाधा, फिर काम में आई रफ्तार
बता दें कि 10 साल में मात्र 4 किलोमीटर की ही टनल बन पाई और फिर ढाई साल में 4 किलोमीटर बन गई। पहले के चार किलोमीटर में देरी की मुख्य वजह रही है कि इसमें तकलीफें क्या हैं वह नही ंजाना गया। बाद में लिस्ट आउटकर उसे दूर करने के लिए तैयारी की गई। तकनीकी सहायता, ठेकेदार से समन्वयन, जिला प्रशासन से समन्वय बनाकर कंस्ट्रक्शन मैनेजमेंट का सिस्टम जाना गया। जिसके बाद काम में रफ्तार 2021 अप्रैल से काम की गति बेहतर हुई है।