रायपुर
छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन के 25 से 29 जुलाई तक होने वाले आंदोलन के समर्थन में छत्तीसगढ़ संयुक्त अनियमित कर्मचारी महासंघ ने भी अपनी लंबित मांगो मंहगाई भत्ता, गृह भाडा तथा कांग्रेस पार्टी के जन घोषणा पत्र के बिंदु क्रमांक 11 एवं 30 में किये गए वादे के अनुरूप अनियमित, संविदा एवं दैनिक वेतनभोगी के नियमितीकरण एवं किसी भी अनियमित कर्मचारी की छटनी नहीं करने तथा आउट सोर्सिंग बंद करने को लेकर कलम बंद-काम बंद हड़ताल में शामिल होने का निर्णय लिया है।

उक्त जानकारी छत्तीसगढ़ संयुक्त अनियमित कर्मचारी महासंघ के प्रांतीय संयोजक गोपाल प्रसाद साहू और प्रांतीय अध्यक्ष रवि गडपाले ने संयुक्त प्रेस विज्ञप्ति में दी उन्होने कहा कि प्रदेश के लाखों अनियमित कर्मचारियों को नियमित करने एवं छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन के 2 सूत्रीय मांग के समर्थन में छत्तीसगढ़ संयुक्त अनियमित कर्मचारी महासंघ,  कमल वर्मा प्रांतीय संयोजक, छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी   फेडरेशन द्वारा आयोजित में आन्दोलन तथा निर्धारित कार्यक्रम यथा 25 से 28 जुलाई जिला/ब्लाक/तहसील में धरना प्रदर्शन, 29 जुलाई को जिला मुख्यालय में धरना-प्रदर्शन, महारैली एवं मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन देने में अपनी सहभागिता प्रमुखता से निभाएगा।

प्रेमप्रकाश गजेन्द्र प्रांतीय उपाध्यक्ष, श्रीकांत लास्कर, सचिव, देवी चंद्राकर संगठन मंत्री, सचिन शर्मा कार्यकारी अध्यक्ष, सुदेश यादव, भूपेंद्र साहू, ने कहा कि हम अपनी मांगो को लेकर आंदोलन के लिये मजबूर हैं समस्त अनियमित कर्मचारियों से अपील की है कि निर्धारित प्रारूप में व्यक्तिगत रूप से 5 दिवस अवकाश लेकर आयोजित आन्दोलन में सम्मिलित हो।