भोपाल

नगरीय निकाय चुनाव के पहले चरण में कम हुए मतदान के बाद अब दोनों ही दल भाजपा और कांग्रेस मतदान का प्रतिशत बढ़ाने के लिए सक्रिय हो गई हैं। दोनों ही दलों के प्रदेश कार्यालय से इसे लेकर मॉनिटरिंग के साथ ही दिशा निर्देश दिए जा रहे हैं।

दूसरे चरण में जहां-जहां मतदान होना हैं, वहां पर आज सुबह से ही भाजपा प्रदेश दफ्तर के पदाधिकारी लगातार संपर्क कर रहे हैं। उनका जोर मतदान का प्रतिशत बढ़ाने को लेकर है। साथ ही हर नगरीय निकाय को लेकर सभी अपडेट ले रहे हैं। वहीं कांग्रेस ने भी प्रदेश कार्यालय में बने कंट्रोल रूम से मतदान प्रतिशत बढ़ाने को लेकर जिला अध्यक्षों से लेकर ब्लॉक, मंडलम और सेक्टर अध्यक्षों को सक्रिय रहने के निर्देश दिए हैं। दोनों ही दल इस पर भी ध्यान रखे हुए हैं कि बीएलओ सही से मतदान पर्ची बांट रहे हैं या नहीं। कई स्थानों पर इनके साथ अब भाजपा और कांग्रेस के स्थानीय कार्यकर्ता भी चल रहे हैं।

बारिश ने बढ़ाई चिंता
भोपाल सहित अन्य जिलों में हो रही भारी बारिश के चलते मतदान को लेकर दोनों ही दलों की चिंता बढ़ गई है। हालांकि भोपाल में नगरीय निकाय के चुनाव पहले चरण में हो चुके हैं, लेकिन बारिश को लेकर बना सिस्टम यदि अब अन्य जिलों की ओर बढ़ा और वहां पर मतदान होना है ऐसे में मतदान के प्रतिशत पर भी असर पड़ सकता है। दोनों ही दलों को आशंका है कि यदि बारिश हुई तो मतदान का प्रतिशत पिछले चुनाव की तुलना में बढ़ाना मुश्किल होगा। मौसम विभाग ने देवास जिले में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। देवास नगर निगम में मतदान 13 जुलाई को होना है।