मुंबई
 
अमरावती पुलिस मुंबई के खार में विधायक रवि राणा के घर पहुंची और बॉम्बे हाईकोर्ट की नागपुर पीठ की ओर से जारी जमानती वारंट उन तक पहुंचाया। इस सप्ताह वारंट जारी किया गया था, क्योंकि बंबई उच्च न्यायालय की ओर से जारी नोटिस का उन्होंने जवाब नहीं दिया था। वारंट में राणा को सोमवार को अदालत में पेश होने को कहा गया है। हालांकि, अमरावती पुलिस वारंट की तामील नहीं कर सकी, क्योंकि वे राणा को उसके आवास पर नहीं ढूंढ पाए।
पुलिस टीम के दौरे के तुरंत बाद, राणा ने एक वीडियो जारी किया जिसमें उन्होंने कहा कि अमरावती पुलिस उन्हें गिरफ्तार करने के लिए मुंबई में थी। राणा ने कहा, "मैं घर पर मौजूद नहीं था, इसलिए वे मुझे गिरफ्तार नहीं कर सके। महाविकास अघाड़ी सरकार की ओर से यह सुनिश्चित करने के लिए एक साजिश है कि मैं भाजपा को वोट नहीं दे सकूं।"

राणा को सोमवार को अदालत में पेश होने का आदेश
अमरावती पुलिस के अनुसार, तीन महिलाओं की ओर से अमरावती नगर आयुक्त प्रवीण अष्टिकर पर स्याही फेंकने के बाद राणा पर धारा 307 (हत्या का प्रयास) और 353 (एक लोक सेवक को उसके कर्तव्य के निर्वहन से रोकने के लिए हमला या आपराधिक बल का उपयोग) के तहत मामला दर्ज किया गया है। अमरावती पुलिस के एक सीनियर अधिकारी ने कहा, "यह एक जमानती वारंट है, जिसमें उन्हें सोमवार को अदालत में पेश होने को कहा गया है। वारंट आपराधिक मामले में जारी किया गया था, जिसमें अमरावती नगर आयुक्त पर स्याही फेंकी गई थी।"
 
विधान परिषद की 10 सीटों के लिए सोमवार को चुनाव
महाराष्ट्र विधान परिषद की 10 सीटों के लिए सोमवार को चुनाव होना है। महाविकास अघाड़ी गठबंधन का भाजपा से कड़ा चुनावी मुकाबला है। निर्दलीय विधायक राणा भाजपा के जाने माने समर्थक हैं। सात जुलाई को 9 विधान पार्षदों का कार्यकाल समाप्त होने वाला है जबकि 10वीं सीट पर इस साल की शुरुआत में भाजपा पार्षद के निधन के कारण चुनाव कराया जा रहा है। इन सीटों के लिए 20 जून को मतदान होना है।