नई दिल्ली
टेस्ट क्रिकेट में इतिहास का सबसे बड़ा चेज करने के बाद इंग्लैंड टीम का हौंसला सातवें आसमान पर है। नए कप्तान और कोच के आने के बाद टीम एक अलग रंग में नजर आ रही है। टीम नए कप्तान के नेतृत्व में 4 टेस्ट मैच खेली है और सबमें उसे जीत हासिल हुई है। टीम ने पहले न्यूजीलैंड के खिलाफ क्लीन स्वीप की और फिर भारत के खिलाफ एजबेस्टन टेस्ट जीतकर सीरीज में 2-2 की बराबरी की। टेस्ट क्रिकेट के बाद अब बारी टी20 क्रिकेट की है जहां टीम इंडिया 3 मैचों की सीरीज खेलेगी। एजबेस्टन टेस्ट की आखिरी पारी में जिस तरह से टीम इंडिया की गेंदबाजी नाकाम हुई है उसको देखते हुए 7 जुलाई से शुरू हो रही टी20 मैचों में बल्लेबाजों से सजी इंग्लैंड की टीम गेंदबाजों के लिए बड़ी चुनौती साबित होगी।

बल्लेबाजों से सजी इंग्लैंड टीम
बल्लेबाजों से सजी इंग्लैंड की टीम में जोस बटलर, लियाम लिविंगस्टन, जेसन राय, डेविड मलान और मोइन अली जैसे बल्लेबाज हैं जो टी20 क्रिकेट सबसे खतरनाक बल्लेबाज के तौर पर जाने जाते हैं। इन बल्लेबाजों के हालिया फार्म की बात करें तो जोस बटलर, लियाम लिविंगस्टन जैसे बल्लेबाज पहले आइपीएल में और फिर नीदरलैंड के खिलाफ सीरीज में शानदार बल्लेबाजी कर रहे थे। नीदरलैंड के खिलाफ हालिया वनडे सीरीज में जोस बटलर इंग्लैंड की तरफ से सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज थे। उन्होंने 185 की स्ट्राइक रेट से 248 रन बनाए थे। इसके अलावा जेसन राय, डेविड मलान और लियाम लिविंग्सटन ने भी जमकर रन बरसाए थे। ऐसे में भारतीय गेंदबाजों के सामने सबसे बड़ी चुनौती इन बल्लेबाजों को रोकने की होगी।

इंग्लैंड के बल्लेबाजों को होगा आइपीएल का फायदा
आइपीएल का हिस्सा रहे जोस बटलर, लियाम लिविंग्सटन जैसे बल्लेबाजों को इस सीरीज में फायदा होगा क्योंकि भारतीय गेंदबाजी क्रम में शामिल भुवनेश्वर कुमार, हर्षल पटेल, युजवेंद्र चहल और आवेश खान जैसे गेंदबाजों को वे आइपीएल में भी खेल चुके हैं।