पोर्ट ऑफ स्पेन
भारत ने पोर्ट ऑफ स्पेन में आयोजित दूसरे वनडे मैच में वेस्टइंडीज को दो विकेट से हरा दिया है. टीम इंडिया की जीत के हीरो ऑलराउंडर अक्षर पटेल रहे. अक्षर ने 64 रनों की तूफानी पारी खेलकर वेस्टइंडीज के कब्जे से मैच को छीन लिया. बाएं हाथ के बैटर अक्षर पटेल ने 35 गेंदों की पारी में तीन चौके और पांच छक्के जड़े.

खास बात यह है कि अक्षर पटेल ने मैच के आखिरी ओवर की चौथी गेंद पर छक्का जड़कर शानदार अंदाज में मैच फिनिश किया. इस जीत के साथ ही भारत ने तीन मैचों की वनडे सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त ले ली है. भारतीय टीम की वेस्टइंडीज के खिलाफ यह लगातार 12वीं सीरीज जीत रही.

वेस्टइंडीज- 311/6 (50ओवर)
भारत- 312/8 (49.4 ओवर)

79 रन पर गिर गए थे तीन विकेट

टारगेट का पीछा करते हुए भारत की शुरुआत अच्छी रही थी. कप्तान धवन और शुभमन गिल ने पहले विकेट के लिए 11 ओवर्स में 48 रनों की साझेदारी की. इस दौरान गिल तो टच में दिखाई दिए लेकिन धवन एक-एक रन के लिए संघर्ष कर रहे थे. धवन 31 गेंदों का सामना करते हुए महज 13 रन बनाकर रोमारियो शेफर्ड की गेंद पर चलते बने. धवन के आउट होने के बाद भारत ने शुभमन गिल (43) और सूर्यकुमार यादव (9) का विकेट गंवा दिया. दोनों ही खिलाड़ियों को काइल मेयर्स ने अपने जाल में फंसाया.

संजू-श्रेयस के बीच हुई अहम साझेदारी

79 रन पर तीन विकेट खोने के बाद श्रेयस अय्यर और संजू सैमसन ने मोर्चा संभाला. दोनों ही प्लेयर्स ने तेज गति से बल्लेबाजी करते हुए विंडीज गेंदबाजों पर प्रेशर बना दिया. संजू और श्रेयस ने चौथे विकेट के लिए 99 रनों की साझेदारी की. श्रेयस अय्यर ने जहां 71 गेंदों पर 63 रन बनाए, वहीं सैमसन ने अपने वनडे करियर का पहला अर्धशतक जड़ते कुल 54 रन बनाए.

…फिर मैच में आया एक और ट्विस्ट

मैच में एक बार फिर ट्विस्ट आया जब श्रेयस और संजू सैमसन कुछ ही ओवर्स के अंतराल में चलते बने. इसके चलते भारत का स्कोर पांच विकेट पर 205 रन हो चुका था. ऐसे में दीपक हुड्डा और अक्षर पटेल ने 51 रनों की पार्टनरशिप कर भारत को मुकाबले में ला खड़ा दिया. दीपक हुड्डा ने 36 गेंदों का सामना करते हुए 33 रन बनाए.

दीपक हुड्डा के छठे विकेट के रूप में आउट होने के बाद भारत को अब भी 35 गेंदों पर 56 रन चाहिए थे. ऐसे में अक्षर पटेल ने शार्दुल ठाकुर और आवेश खान के साथ उपयोगी साझेदारी कर भारत को टारगेट के करीब ला खड़ा कर दिया.

आखिरी ओवर में बनाने थे 8 रन

आखिरी ओवर्स में भारत को आठ रनों की आवश्यकता थी. काइल मेयर्स द्वारा फेंके गए उस ओवर में दूसरी गेंद पर अक्षर और तीसरी गेंद पर सिराज ने एक-एक रन लिया. अब तीन गेंदों पर छह रन बनाने थे और मुकाबला दोनों ही टीमें जीत सकती थीं. ऐसी दबाव वाली परिस्थिति में अक्षर ने चौथी गेंद पर छक्का जड़कर भारत को यादगार जीत दिला दी. अक्षर पटेल प्लेयर ऑफ द मैच रहे.

होप के शतक से विंडीज ने बनाए थे 311 रन

टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए वेस्टइंडीज ने 50 ओवर्स में छह विकेट पर 311 रन बनाए. शाई होप ने अपने 100वें वनडे मैच में शानदार शतक जड़ दिया. होप ने 125 गेंदों का सामना करते हुए 8 चौके और तीन छक्के की मदद से 115 रनों की पारी खेली. वहीं कप्तान निकोलस पूरन ने 74 और काइल मेयर्स ने 39 रनों का योगदान दिया. इस दौरा शाई होप और निकोलस पूरन ने चौथे विकेट के लिए 117 रनों की शानदार पार्टनरशिप भी की. भारत की ओर से शार्दुल ठाकुर को सबसे ज्यादा तीन सफलताएं प्राप्त हुईं.