बालोद

जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक बालोद के द्वारा मौजूदा खरीफ सीजन को ध्यान में रखते हुए जिले के कृषकों को पर्याप्त मात्रा में खाद-बीज की उपलब्धता सुनिश्चित कराने हेतु समुचित व्यवस्था की गई है। जिसके फलस्वरूप जिले के किसानों को सहकारी समितियों के माध्मय से खाद-बीज लेने में किसी भी तरह की असुविधा नहीं हो रही है।

जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक बालोद के नोडल अधिकारी श्री रामटेके ने बताया कि किसानों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए तथा मौजूदा खरीफ सीजन में हर संभव मदद उपलब्ध कराने हेतु बालोद विकासखण्ड के लाटाबोड़ शाखा के अंतर्गत सहकारी समिति परसोदा में भी जरूरी व्यवस्थाएॅ की गई है। जिसके कारण सहकारी समिति परसोदा में किसानों को खाद लेने में किसी तरह की असुविधा नहीं हो रही है। उन्होंने बताया कि 22 जून के पूर्व परसोदा सहकारी समिति में 22 टन यूरिया खाद, 40 टन डीएपी खाद, 66 बैग सरना धान बीज, 67 बैग सरना सफेद धान बीज का वितरण किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि 23 जून को सहकारी समिति परसोदा में खाद के लिए लाईन में लगे किसान की मौत संबंधी खबर के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि सहकारी समिति परसोदा में ग्राम सोंहतरा के किसान श्री बंशीलाल साहू उम्र 65 वर्ष गुरूवार 23 जून को खाद लेने गया था। 22 जून बुधवार को खाद समिति में आ गया था, उसकी जानकारी लेने आया होगा और गुरूवार 23 जून को पुन: किसान सोसायटी पहुॅचकर पर्ची जमाकर कुर्सी में बैठकर खाद लेने अपनी बारी का इंतजार कर रहा था। खाद वितरण केन्द्र में किसानों की ज्यादा भीड़ नहीं थी। उन्होंने बताया कि किसान का स्वास्थ्य पूर्व से खराब था, उन्हें बी.पी. एवं शुगर की समस्या थी। कुर्सी में बैठे-बैठे उनका स्वास्थ्य अचानक खराब हो गया और वे बेहोश हो गए। तब उसे तत्काल प्राथमिक उपचार के लिए नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र परसोदा ले जाया गया। फिर उसे 108 वाहन से जिला अस्तपताल में उच्च उपचार हेतु ले जाया गया। जानकारी के अनुसार उन्हें राजनांदगांव हास्पिटल ले जाया जा रहा था, रास्ते में उनकी मृत्यु हो गई। चूॅकि समिति में खाद की उपलब्धता के संबंध में किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं थी। किसानों को खाद लेने में किसी तरह भी कोई असुविधा न हो इसका समिति द्वारा ध्यान रखा जा रहा है।