लखनऊ
 
पावर कारपोरेशन के चेयरमैन एम. देवराज ने सोमवार को अस्थाई कनेक्शन घोटाले में यह बड़ी कार्रवाई की है। उन्‍होंने गौतमबुद्ध नगर ( ग्रेटर नोए़डा) के अस्थाई विद्युत कनेक्शन घोटाला मामले में पावर कारपोरेशन प्रबंधन ने एक एक्‍सईएन, एसडीओ और जेई को नौकरी से बर्खास्त कर दिया है। इनके अलावा 13 कार्मिकों को दीर्घ दंड तथा एक कार्मिक को लघु दंड दिया गया है।

बर्खास्त किए गए अधिशासी अभियंता प्रभात कुमार सिंह ग्रेटर नोएडा में तैनाती के दौरान अस्थाई कनेक्शन जारी करने में लापरवाही, मनमाने ढंग से फैसले लेने के कारण अपने कर्तव्यों व दायित्वों का निर्वाह नहीं किए जाने के दोषी पाए गए हैं। त्रिस्तरीय जांच समिति की जांच आख्या पर इन्हें सेवा से बर्खास्त किया गया है। इनसे 34 लाख 69 हजार 308 रुपये की वसूली का आदेश भी हुआ है।

अधिशासी अभियंता राकेश मोहन तथा संजय कुमार की एक वार्षिक वेतन वृद्धि , सहायक अभियंता पंकज कुमार राठौर की दो वार्षिक वेतन वृद्धि , उप खंड अधिकारी प्रेम शंकर शर्मा की चार वार्षिक वेतन वृद्धि पर रोक समेत 14 कार्मिकों की वेतन वृद्धि रोककर वसूली के आदेश दिए गए हैं।