कोलंबो

गंभीर आर्थिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका में हालात बिगड़ते जा रहे हैं। खबर आ रही है कि प्रदर्शनकारियों ने देश के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के आवास को घेर लिया है। कहा जा रहा है कि राजपक्षे घर छोड़कर भाग गए हैं। कुछ समय पहले जब भारी बवाल के बीच श्रीलंका के पूर्व प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे ने इस्तीफा दिया था तो उन्हें आगजनी और हिंसक प्रदर्शनकारियों से बचने के लिए परिवार सहित घर छोड़कर भागना पड़ा था।

स्थानीय मीडिया और रक्षा सूत्रों के हवाले से न्यूज एजेंसी AFP ने इसकी जानकारी दी है। श्रीलंका के अखबार डेली मिरर की खबर के अनुसार प्रदर्शनकरी राष्ट्रपति भवन के भीतर घुस चुके हैं और उस पर कब्जा कर लिया है। स्थानीय टीवी चैनल न्यूजफर्स्ट की वीडियो फुटेज में श्रीलंकाई झंडा और हेलमेट पकड़े प्रदर्शनकारियों को राष्ट्रपति भवन के भीतर घुसते देखा जा सकता है। ट्विटर पर शेयर किए गए एक वीडियो में सैकड़ों प्रदर्शनकारी श्रीलंका के राष्ट्रपति भवन के भीतर नारे लगाते हुए नजर आ रहे हैं।
श्रीलंका में पासपोर्ट पाने के लिए दो दिन से लाइन में खड़ी महिला ने बच्ची को दिया जन्म, हालात तो देखिए

प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए की हवाई फायरिंग
एक चश्मदीद के हवाले से रॉयटर्स ने बताया कि पुलिस ने राष्ट्रपति भवन को घेरी गुस्साई भीड़ को रोकने के लिए हवा में फायरिंग की लेकिन उन्हें रोक नहीं पाई। रिपोर्ट में कहा गया, 'बैरिकेड्स को तोड़ते हुए हजारों प्रदर्शनकारी आवास के मुख्य द्वार पर पहुंचे और पुलिस को इस इलाके से पीछे हटते हुए देखा गया। हवा में चलाई गई गोलियों की आवाज सुनी गई और लगातार आंसू गैस के गोले दागे जाते रहे।'

प्रधानमंत्री ने बुलाई इमरजेंसी मीटिंग
श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने स्थिति पर चर्चा करने और त्वरित समाधान के लिए पार्टी नेताओं की आपात बैठक बुलाई है। वह स्पीकर से संसद को बुलाने का भी अनुरोध कर रहे हैं। प्रदर्शनकारी मार्च से ही राजपक्षे का इस्तीफा मांग रहे हैं। मई में श्रीलंका के तत्कालीन प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे के इस्तीफे के बाद श्रीलंका जल उठा था। दंगाइयों ने राजपक्षे के पुश्तैनी घर और सांसद व मंत्रियों के घरों में आग लगा दी थी।