रायपुर
भारतीय जनता पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के विधायकों ने संयुक्त रुप से 25 जुलाई को कर्मचारियों के द्वारा आंदोलन पर जाने का मामला उठाया और इस पर चर्चा कराने की मांग की। लेकिन सत्तापक्ष की ओर से कोई भी जवाब नहीं आने के कारण विधायकों ने जमकर हंगामा किया, इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष डा. चरणदास महंत ने सदन की कार्रवाई को 5 मिनट के लिए स्थगित कर दिया।

भाजपा विधायक शिवरतन शर्मा ने कहा कि अलग-अलग मुद्दों को लेकर लगातार कर्मचारी प्रदेश में प्रदर्शन कर रहे हैं। आज भी सहायक शिक्षकों का बड़ा आंदोलन है। बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि मेरे विधानसभा क्षेत्र में हर जगह हड़तालियों के पंडाल हैं। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के विधायक धर्मजीत सिंह ने कहा कि सरकार ने अपने घोषणा पत्र में जो वादे कर्मचारियों के लिए किए थे वह वादा निभाए। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि आज प्रदेश के 1 लाख 9 हजार से अधिक सहायक शिक्षक प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्हें राजधानी आने से भी रोका जा रहा। सभापति ने कहा, यह प्रस्ताव विचाराधीन है। इस पर चर्चा करने की मांग की, लेकिन सत्तापक्ष की ओर से कोई भी जवाब नहीं मिलने के कारण विपक्षी विधायकों ने जमकर हंगामा शुरू कर दिया, इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष डा. चरणदास महंत ने सदन की कार्रवाई को 5 मिनट के लिए स्थगित कर दिया।