हाई ब्लड प्रेशर या हाइपरटेंशन लक्षण विकसित होने से पहले सालों तक चुपचाप शरीर को नुकसान पहुंचा सकता है।  अगर ब्लड प्रेशर बहुत अधिक हो जाता है या लंबे समय तक बना रहता है तो कई तरह की बीमारियों का कारण बनता है। अनियंत्रित ब्लड प्रेशर आपको स्ट्रोक,  हृदय रोग, हार्ट अटैक और किडनी संबंधी समस्याओं को पैदा कर सकता है।

ट्रीटमेंट और लाइफस्टाइल में बदलाव से हाई ब्लड प्रेशर को कम किया जा सकता है। भोजन और आहार हमेशा ऐसे कारक होते हैं जो या तो  ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मदद करता है। दो ऐसे जूस हैं जिससे जीवन में शामिल करके ब्लड प्रेशर को कंट्रोल कर सकते हैं.

अजवाइन का रस
सेलेरी में फाइटोकेमिकल फ़ेथलाइड पाया जाता है जो  हाई ब्लड प्रेशर को कम करने के लिए कारक माना जाता है। फोइटोकेमिकल  धमनी की दीवारों के अंदर ऊतकों को आराम दे सकता है। जिससे ब्लड फ्लो तेजी से होता है। इसके अलावा सेलेरी यानी अजवाइन में भरपूर मात्रा में पाए जाने वाले नाइट्राइट भी फायदा पहुंचाता है।

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित एक अध्ययन में उच्च रक्तचाप से ग्रस्त बुजुर्ग पुरुषों में अजवाइन के रस के बाद रक्तचाप में बदलाव की जांच की गई। शोध में हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित 74 साल के एक व्यक्ति को शामिल किया गया। उसे छह महीने से अधिक वक्त तक सेलेरी का जूस हर रोज दिया गया। जिसका सकारात्मक परिणाम सामने आया। अध्ययन में  निष्कर्ष निकाला कि रोगी के पॉजिटिव रिस्पॉन्स के बाद अजवाइन यानी सेलेरी का जूस हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए दिया जा सकता है।

ब्लैक करंट का जूस
ब्लैक करंट का जूस भी ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मदद करता है। इसमें  एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाया जाता है, जो ब्लड प्रेशर को कम करने में प्रभावी है। हालांकि जिसे लो ब्लड प्रेशर की शिकायत होती है उन्हें ये जूस नहीं लेना चाहिए।