रायपुर
 मौसम विभाग का कहना है कि मानसूनी तंत्र और द्रोणिका के प्रभाव से शनिवार को प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में भारी वर्षा की संभावना है। साथ ही कुछ क्षेत्रों में बिजली भी गिर सकती है।

मानसून की गतिविधियों के चलते इन दिनों तापमान भी गिरा है और उमस से थोड़ी राहत मिली है। रायपुर का अधिकतम तापमान 35.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग का कहना है कि अभी मौसम का मिजाज इस प्रकार ही रहेगा। एक मजबूत सिस्टम भी बन रहा है और इसके प्रभाव से शनिवार को प्रदेश के विभिन्ना क्षेत्रों में भारी वर्षा हो सकती है। मौसम के मिजाज को देखते इन दिनों बाजारों में छाते व रेनकोट का बाजार भी सजने लगा है। संस्थानों में रेनकोट व छातों की खरीदारी करते ग्राहकों की भीड़ भी देखी जा सकती है।

इन क्षेत्रों में हुई बारिश

बस्तानार-मगरलोड-नारायणपुर-कुसमी में पांच सेमी, टोकापाल-धमतरी-चारामा में चार सेमी, डौंडी-कटघोरा में तीन सेमी, भोपालपट्टनम-बालोद में दो सेमी वर्षा हुई। इसके साथ ही प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में हल्की से मध्यम वर्षा हुई।

यह बन रहा सिस्टम

मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा ने बताया कि मानसूनी तंत्र की सक्रियता के साथ ही एक चक्रवाती घेरा दक्षिण पूर्व उत्तर प्रदेश के ऊपर 0.9 किमी ऊंचाई तक विस्तारित है। एक द्रोणिका झारखंड से विदर्भ तक 1.5 किमी ऊंचाई तक है। इसके चलते शनिवार को प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में हल्की से मध्यम वर्षा होने के आसार है। साथ ही कुछ क्षेत्रों में भारी वर्षा होने व बिजली गिरने की संभावना है।