आगरा
दुबई में आकाश, पाताल, जंगल और बुर्ज खलीफा की चोटी पर हरिनाम संकीर्तन का रिकार्ड बनाने के लिए निकले वृंदावन के कथावाचक कृष्ण किंकर ने दुबई के आसमान और जंगल में हरिनाम संकीर्तन कर सतनातन धर्म की पताका फहराई। कृष्ण किंकर ने पांच सदस्यीय टीम के साथ दुबई के जंगल में शेर के सामने हरिनाम संकीर्तन किया।

गिनीज बुक आफ रिकार्ड में नाम दर्ज कराने का संकल्प
पैराग्लाइडिंग से दुबई के आसमान में हरिनाम संकीर्तन की अलख जगाई। शेर को जंजीर से बांधा गया था। किंकर का कहना है गिनीज बुक आफ रिकार्ड में नाम दर्ज कराने के उद्देश्य से लिया संकल्प पूरा होने की उम्मीद है। करीब दस दिन पहले वह दुबई गए थे। टीम के साथ ट्रेनर भी हैं। एक माह तक टीम दुबई में रहेगी।

धर्म प्रसार के लिए करते हैं नए नए प्रयोग
कैलाश नगर स्थित प्रिया प्रियतम धाम के संस्थापक कथावाचक कृष्ण किंकर धर्म प्रसार के लिए आए दिन नए प्रयोग करते रहे हैं। पिछले दिनों देशभर के श्रद्धालुओं के साथ साढ़े तेरह करोड़ नाम जप महोत्सव का आयोजन किया। अब दुबई में सनातन संस्कृति की पताका फहरा रहे हैं। जंगल और आकाश में उन्होंने सनातन धर्म की पताका फहराते हुए हरिनाम संकीर्तन की अलख जगाई है। पैराग्लाइडिंग के जरिए पांच सदस्यों की दुबई की टीम ने हवा में हरिनाम संकीर्तन किया।

हैरान रह गए दुबई के लोग
दुबई के लोग भी इस अद्भुत क्षण को देख दंग रह गए। टीम के सदस्यों ने दुबई के घने जंंगल अल्बुकाशी में भी पशु-पक्षियों के समक्ष हरिनाम संकीर्तन किया। जंगल में शेर के सामने टीम हरिनाम संकीर्तन कर रही थी, तो शेर भी कीर्तन का आनंद लेता रहा। इस दौरान शेर को जंजीर से बांध दिया गया था। जल्द ही वह तिथि तय कर बुर्ज खलीफा की चोटी से भी हरिनाम संकीर्तन करेंगे।

ये हैं टीम में
दुबई में हरिनाम संकीर्तन करने वाली टीम में कथावाचक कृष्ण किंकर के साथ डा. आकाश माहेश्वरी, पुरुषार्थ, अभिषेक व कपिल शामिल हैं। टीम की व्यवस्था से लेकर प्रचार-प्रसार की जिम्मेदारी कान्हा अकादमी के निदेशक अनूप शर्मा संभाल रहे हैं।