नई दिल्ली

सरकार ने कोरोना से बचाव के लिए बूस्टर डोज लगवाने के नियम बदल दिए हैं. बूस्टर डोज अब 9 की जगह 6 महीने बाद ही लगवा सकेंगे. अगर आपने दूसरा डोज ले लिया है तो अब आपको बूस्टर डोज के लिए 9 महीने की जगह 6 महीने या 26 हफ्ते इंतजार करना होगा.

सरकार की ओर से कहा गया कि 18 से 59 वर्ष के सभी लोगों को अब 9 महीने के बजाय 6 महीने बाद बूस्टर डोज दी जाएगी. टीकाकरण पर सरकार की सलाहकार संस्था-नेशनल टेक्निकल एडवाइजरी ग्रुप ऑन इम्यूनाइजेशन (NTAGI) ने दूसरे और बूस्टर डोज के बीच के अंतर को कम करने की सिफारिश की थी.

12 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए भी टीके लगाने की सिफारिश
इसके अलावा NTAGI ने 12 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए भी टीके लगाने की सिफारिशें दी हैं. NTAGI के सूत्रों ने कहा कि 12-17 आयु वर्ग में कम टीके लग रहे हैं, वे इसमें सुधार के पक्ष में हैं. इस आयु वर्ग के लोगों को 12 वर्ष की आयु वर्ग वालों की तुलना में ज्यादा खतरा है. बूस्टर के रूप में CORBEVAX के उपयोग पर NTAGI की ओर से अभी तक कोई चर्चा नहीं हुई है.

6 महीने या 26 सप्ताह इंतजार
केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों और एडमिनिस्ट्रेशन को लिखे पत्र में कहा, प्राइवेट कोविड टीकाकरण केंद्रों (CVCs) में दूसरी खुराक की तारीख से 6 महीने या 26 सप्ताह पूरे होने के बाद 18-59 वर्ष के सभी लोग बूस्टर डोज ले सकते हैं.

इन्हें मुफ्त में दी जाएगी खुराक
पत्र में कहा गया कि 60 वर्ष और उससे अधिक उम्र के लोगों और स्वास्थ्य देखभाल कर्मियों, फ्रंट लाइन वर्कर्स को बूस्टर डोज दूसरे डोज के 6 महीने या 26 सप्ताह पूरा होने के बाद मुफ्त में दी जाएगी.

बता दें कि कोरोना से बचाव के लिए अभी तक बूस्टर डोज लेने के लिए 9 महीने का इंतजार करना होता था. लेकिन सरकार के इस फैसले के बाद जिन्होंने दूसरा डोज ले लिया है, वे डोज लेने की तारीख से छह महीने बाद बूस्टर डोज लगवा सकते हैं.

Covavax को हाल ही में मिली मंजूरी
मालूम हो कि हाल ही में बच्चों के लिए कोरोना की एक और वैक्सीन को सरकार ने मंजूरी दे दी. केंद्र सरकार ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) की वैक्सीन कोवोवैक्स (Covavax) को 7 से 11 साल के बच्चों के लिए मंजूरी दी. 9 मार्च को कोवोवैक्स को 12 से 17 साल के लोगों पर इमरजेंसी यूज के लिए मंजूरी मिली थी. लेकिन अब यह 7 साल और उससे ज्यादा उम्र के लोगों को लगाई जा सकेगी.