गूगल ने डूडल बनाकर Oskar Sala को उनके 112वें जन्मदिन पर याद करते हुए श्रद्धांजलि दी है। गूगल ने उनके अनोखे काम के लिए श्रद्धांजलि दी (Google Doodle Today) है। उनका इनोवेशन ऐसा था कि लोग उन्हें वन मैन ऑर्केस्ट्रा कहते थे। जी हां, Oskar Sala एक इनोवेटिव इलेक्ट्रॉनिक म्यूजिक कंपोजर और फिजिसिस्ट थे। उन्होंने फिल्मी जगत में भी अपना म्यूजिक दिया है। कई फिल्म, टीवी सिरियल और रेडियो के लिए साउंड इफेक्ट्स दिया। उन्हें मिक्सचर-ट्रौटोनियम नामक म्यूजिक इंस्ट्रूमेंट पर साउंड इफेक्ट्स क्रिएट करने के लिए जाना जाता था।

कौन थे Oskar Sala?
Oskar Sala का जन्म जर्मनी में साल 1910 में हुआ था। बचपन से ही उन्हें म्यूजिक से लगाव था। उनकी मां सिंगर थी और पिता नेत्र रोग विशेषज्ञ थे। ऑस्कर ने मां को काफी सुना था। इस कारण ुनका लगाव संगीत की तरफ बढ़ गया। 14 साल की उम्र में ही ऑस्कर ने वायलिन और पियानो से गाना क्रिएट करना शुरू कर दिया था। वे इसकी मदद से म्यूजिक भी बनाने लगे थे। उसी दौरान ऑस्कर ने ट्रौटोनियम का नाम सुना। उस म्यूजिक इंस्ट्रूमेंट के बारे में जानकर वे दंग रह गए। जिस तरह से ट्रौटोनियम फंक्शन करता था, उससे वे काफी उत्साहित हो गए थे। उन्हें ट्रौटोनियम को सीने और उसे और विकसित करने में पूरी जिंदगी लगा दी।

ट्रौटोनियम को बनाया और बेहतर
Oskar ने पढ़ाई करते-करते ही ट्रौटोनियम की खामियों में सुधार करना शुरू कर दिया था और उसे बेहतर कर मिक्सचर ट्रौटोनियम (Mixture Trautonium) का निर्माण किया। उन्होंने म्यूजिक कंपोजर और इलेक्ट्रो इंजीनियर की पढ़ाई की थी इस कारण उन्होंने मिक्सचर ट्रौटोनियम को बेहतर रूप दिया। उनके बनाए संगीत अन्य से काफी हटकर होते थे। ऑस्कर अपने मिक्सचर ट्रौटोनियम की मदद से एक साथ ही कई तरह के आवाज को क्रिएट कर देता था।

फिल्म, टीवी सीरियल और रेडियो के लिए किया काम
Oskar Sala ने कई फिल्म, टीवी सीरियल के लिए म्यूजिक दिया है। आपको बताते हैं कि उन्होंने Rosemary (1959), The Birds (1962) जैसे म्यूजिक को क्रिएट किया। Oskar अपने डिवाइस से इतने जुड़ गए थे कि वे चिड़ियों की आवाज, दरवाजों खिड़कियों के टकराने की आवाज और कई साउंड इफेक्ट निकाल लेते थे।

ऑस्कर को मिले हैं कई अवॉर्ड
Oskar Sala को इस कार्य के लिए कई तरह के अवॉर्ड मिले। कई बड़े कलाकारों के साथ भी उन्होंने काम किया। 1995 में उन्होंने अपने असली मिक्सचर ट्रौटोनियम को जर्मन संग्रहालय में रखने के लिए दिया। साथ ही Oskar ने क्वारटैट ट्रौटोनियम (Quartett Trautonium), कॉन्सर्ट ट्रौटोनियम (Concert Trautonium) और फॉक्स ट्रौटोनियम (Volkstrautonium) नाम के डिवाइस को भी बनाया। ऑस्कर ने अपने जीवन में कई रचनाएं की। इस कारण लोगों को सबहार्मोनिक्स के बारे में पता चला। उन्हें वन मैन ऑर्केस्ट्रा कहा जाता था।