पटना

बिहार में विधानसभा के मॉनसून सत्र के दौरान AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी पर सियासी बिजली गिर गई है। उनके 5 में से चार विधायकों ने लालू यादव की पार्टी आरजेडी का दामन थाम लिया है। पीएम मोदी के खिलाफ ताबड़तोड़ भाषण दे रहे ओवैसी को पता भी नहीं चला और उनकी पीठ के पीछे ऐसा खेल हुआ कि उनकी पांच साल की मेहनत हवा में गायब हो गई। एक तरह से बिहार की राजनीति से ओवैसी का पत्ता एक झटके में साफ हो गया है। उनके चारों विधायकों की एक तस्वीर भी सामने आ गई है जिसमें उन्हें नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव मिठाई खिलाते दिख रहे हैं।

रातों रात तेजस्वी ने कर दिया खेल
नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने रातों रात ऐसा खेल किया जिसकी उम्मीद ओवैसी तो छोड़ दीजिए, बीजेपी और जेडीयू को भी नहीं थी। इधर मॉनसून सत्र में तेजस्वी अपने ने विधायकों को अग्निपथ की रणनीति बनाकर सदन में भेज दिया और उधर पीठ पीछे दूसरे खेल में लगे रहे। किसी को भनक तक नहीं लगी। अचानक बुधवार को जब ओवैसी के ये चार विधायक इजहार अस्फी, शाहनवाज आलम, सैयद रुकुनुद्दीन अहमद और अनजार नईमी विधानसभा अध्यक्ष के पास जाते दिखे तो लग गया कि बड़ा खेल हो गया। रही सही कमी तेजस्वी ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसका ऐलान कर पूरी कर दी।