नई दिल्ली
पीटीआई के सूत्रों के मुताबिक, इस बैठक की अध्यक्षता स्वास्थ्य एवं विज्ञान मामलों के महानिदेशक कर रहे थे। इस बैठक में स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों के अलावा राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी) और आईसीएमआर के अधिकारी भी शामिल रहे।

भारत में अकेले जुलाई में ही मंकीपॉक्स संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर चार पहुंच गया है। रविवार को दिल्ली में भी एक संक्रमित मिलने से अब पूरे देश में हड़कंप मच गया है। इस बीच केंद्र सरकार ने मंकीपॉक्स केसों की बढ़ती संख्या को देखते हुए एक उच्चस्तरीय बैठक बुलाई है।

सूत्रों के मुताबिक, इस बैठक की अध्यक्षता स्वास्थ्य एवं विज्ञान मामलों के महानिदेशक कर रहे थे। इस बैठक में स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों के अलावा राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी) और आईसीएमआर के अधिकारी भी शामिल रहे।
 
गौरतलब है कि दिल्ली में आज 31 वर्षीय व्यक्ति मंकीपॉक्स से संक्रमित निकला। चौंकाने वाली बात यह है कि उसका कोई यात्रा इतिहास नहीं है। इसे बुखार और त्वचा के घावों के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। यह मरीज मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज में भर्ती है।

केरल में अब तक 3 मरीजों की पुष्टि
देश में मंकीपॉक्स का पहला मामला 14 जुलाई को दक्षिण केरल के कोल्लम जिले में सामने आया था। वहीं दूसरा मामला 18 जुलाई को और तीसरा मामला 22 जुलाई को केरल में ही सामने आया था। तीनों शख्स विदेश की यात्रा कर लौटे थे। बीते दिनों केरल सरकार ने बढ़ते मंकीपॉक्स के मामलों को देखते हुए एसओपी जारी कर दिया था। इसके अनुसार, अगर निकट संपर्क में आए व्यक्ति को बुखार हो, तो उन्हें आइसोलेटेड किया जाए और यदि उनके शरीर पर लाल धब्बे दिखाई देते हैं, तो उनके नमूने मंकीपॉक्स की जांच के लिए भेज जाएं।