नई दिल्ली
इंग्लैंड के खिलाफ मैनचेस्टर में रिषभ पंत की 125 रनों की शानदार पारी की प्रशंसा पूरे क्रिकेट जगत ने की थी। उनकी यह पारी इसलिए खास थी क्योंकि यह पारी दबाव के वक्त आई जब 72 रन के स्कोर पर टीम इंडिया अपने टाप के चार बल्लेबाजों को गंवा चुकी थी। 24 साल के पंत ने इस मैच में 113 गेंदों पर 125 रन की पारी खेली जो उनके वनडे करियर का पहला शतक था। उनकी इस पारी के दम पर टीम इंडिया न केवल मैच जीतने में सफल रही बल्कि 3 मैचों की वनडे सीरीज को 2-1 से अपने नाम किया। पंत को अक्सर वनडे क्रिकेट में गैर-जिम्मेदाराना शाट खेलकर आउट होते देखे गया है यही वजह है कि वह अपनी टेस्ट मैचों की सफलता को व्हाइट गेंद क्रिकेट में रिफ्लेक्ट नहीं कर पाते हैं।

पंत की इस पारी पर पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर राशिद लतीफ ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने पंत की तारीफ करते हुए कहा है कि "हम सभी उनके बारे में जानते हैं उनका चल गया तो चांद तक नहीं तो शाम तक।" उन्होंने पंत के ऊपर अपनी यह टिप्पणी इसलिए की है क्योंकि पंत शुरुआत तो अच्छी करते हैं लेकिन वह उसे बड़ी पारी में नहीं बदल पाते। लेकिन इस बार उन्होंने ऐसा नहीं किया और सूझबूझ से अपनी पारी खेली। लतीफ ने कहा कि "वह बटलर के भाई हैं जैसे वह मारने लगते हैं तो किसी की नहीं सुनते।" उन्होंने कहा कि "पंत की बल्लेबाजी खासतौर से तेज गेंदबाजों के खिलाफ शानदार रही है। यह केवल इंग्लैंड दौरे की बात नहीं है बल्कि साउथ अफ्रीका दौरे पर भी उन्होंने ऐसा करके दिखाया था।"

उन्होंने कहा कि "लोग कभी-कभी उनकी बल्लेबाजी पर सवाल उठाते हैं। लेकिन जब वह इस तरह की इनिंग खेलते हैं तो कोई उनका अनुकरण नहीं कर पाते। कुल मिलाकर उनकी बल्लेबाजी ऐसी है कि कभी-कभी वह टीम को मुश्किल परिस्थिति से बाहर निकाल लेते हैं और कभी-कभी जीता हुआ मैच भी अपने खराब शाट से गंवा देते हैं।" पंत अब वेस्टइंडीज के खिलाफ 5 मैचों की टी20 सीरीज में खेलते नजर आएंगे। वनडे सीरीज से उनको आराम दिया गया है।