नई दिल्ली
 नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल जिन्हें प्रचंड के नाम  से भी जाना जाता है रविवार को भाजपा मुख्यालय जाएंगे। यहां वह भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा और विदेश मंत्री एस जयशंकर से मुलाकात करेंगे। यह मुलाकात भाजपा के 'भाजपा को जानो' कार्यक्रम का हिस्सा है। 6 अप्रैल से भाजपा ने यह अभियान शुरू किया है जिसके तहत वह विदेशी डिप्लोमैट्स को पार्टी के नेताओं से मिलवाती है और भाजपा की विचारधारा और इतिहास से परिचित करवाती है। भाजपा की फॉरेन सेल के चीफ विजय चौथाईवाला के मुताबिक कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ नेपाल के चेयरमैन प्रचंड को जेपी नड्डा ने बुलाया है। यह नेपाली नेता की भाजपा मुख्यालय का दूसरा दौरा है।

इससे पहले प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा अपने मंत्रियों के साथ जेपी नड्डा और पार्टी के अन्य नेताओं से मिले थे। चौथाईवाला ने कहा, पहले हम ग्रुप में डिप्लोमैट्स को न्योता देते थे। हम चाहते हैं कि नेपाल के सभी राजनीतिक दलों के नेताओं से बातचीत हो।

बता दें कि प्रचंड इकलौते कम्युनिस्ट नेता हैं जो कि दो बार नेपाल के प्रधानमंत्री बन चुके हैं। पहले कार्यकाल में वह चीन के ज्यादा करीब थे। ऐसे में भारत से उन्होंने अच्छे संबंध नहीं बनाए लेकिन जब वह दूसरी बार प्रधानमंत्री बने तो उन्होंने चीन की जगह भारत को वरीयता दी। उनके कार्यकाल के दौरान भारत और नेपाल के संबंधों में सुधार हुआ।