नई दिल्ली
बर्मिंघम टेस्ट के पहले दिन टीम इंडिया ने शुरुआती झटकों से उबरते हुए खेल खत्म होने तक 7 विकेट खोकर 338 रन बना लिए थे। टीम एक वक्त इंग्लैंड गेंदबाजों के सामने संघर्ष कर रही थी जब उसके 98 रन के स्कोर पर 5 विकेट गिर गए थे। लेकिन रिषभ पंत की 111 गेंदों पर 146 रनों की पारी ने मैच में टीम इंडिया की वापसी करा दी। पंत की इस पारी की तारीफ सचिन सहित कई दिग्गज क्रिकेटर कर रहे हैं। पंत की इस पारी की तारीफ इसलिए हो रही है क्योंकि यह पारी दबाव के समय आई जब एंडरसन के सामने विराट कोहली, चेतेश्वर पुजारा, हनुमा विहारी और शुभमन गिल जैसे बल्लेबाज संघर्ष कर रहे थे।

पंत की इस विस्फोटक पारी की तारीफ करने वालों में पश्चिम बंगाल के खेल मंत्री और पूर्व भारतीय क्रिकेटर मनोज तिवारी भी हैं जिन्हें पंत की यह पारी सीख देने वाली नजर आती है। उन्होंने ट्विट कर पंत की पारी की तारीफ की है और लिखा है कि पंत की यह पारी उन सभी कोचों के लिए एक रिमाइंडर है जो युवा खिलाडि़यों को क्रिकेट सीखाते हैं। यदि कोई उनकी तरह प्रतिभावान खिलाड़ी हैं और उनकी तरह शाट्स खेल सकते हैं तो उन्हें उसी तरह खेलने दें और उनका प्रोत्साहन करें न कि उन्हें और उनके स्टाइल को बदलने की कोशिश करें।

पंत ने लगाया 5वां शतक
पंत ने बर्मिंघम के पहले दिन टेस्ट क्रिकेट का 5वां शतक लगाया। पंत की यह शतकीय पारी सीरीज के आखिरी मैच में आई है। इससे पहले भी पंत के बाकी सभी 4 शतक सीरीज के आखिरी मैच में ही आई है।