नई दिल्ली
भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान विराट कोहली का बल्ला लगातार रन बनाने के लिए जूझ रहा है। इंग्लैंड के खिलाफ खेले जा रहे पिछले दौरे की सीरीज के 5वें टेस्ट में भी उनको नाकामी ही हाथ लगी। बर्मिंघम टेस्ट की दोनों पारियों में वह सस्ते में आउट होकर वापस लौटे। इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वान की भविष्यवाणी सही साबित हुई और इंग्लिश टीम ने वो कर दिखाया जिसका उनके पूर्व कप्तान ने सुझाव दिया था। इंग्लैंड के खिलाफ खेले जा रहे 5वें टेस्ट मैच में टीम इंडिया ने तीसरे दिन अपनी पकड़ और भी मजबूत कर ली। पहली पारी में 416 रन बनाने के बाद भारतीय टीम ने तेज गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर इंग्लिश टीम को महज 284 रन पर ढेर कर दिया। मोहम्मद सिराज ने 4 जबकि कप्तान जसप्रीत बुमराह ने 3 बल्लेबाजों के आउट किया। मोहम्मद शमी ने दो और शार्दुल ठाकुर ने 1 विकेट चटकाया।

माइकल वान की भविष्यवाणी हुई सच
इंग्लैंड की टीम के खिलाफ बर्मिघम टेस्ट में उतरने से पहले विराट कोहली को लेकर पूर्व कप्तान वान ने भविष्यवाणी की थी। उन्होंने इंग्लिश टीम से कहा था कि वह इस भारतीय बल्लेबाज के खिलाफ खास रणनीति बनाकर उतरे और उनको किसी भी तरह से 30 रन के अंदर रोके क्योंकि अगर कोहली ने 30 रन का स्कोर पार कर लिया तो शतक बनाकर ही रुकेंगे। इंग्लैंड की टीम दोनों पारियों में ऐसा करने में कामयाब रही।

कोहली ने बर्मिघम टेस्ट की पहली पारी में 19 गेंद खेलकर 11 रन बनाए और मैथ्यू पाट की गेंद को खेलना है या छोड़ना है इस दुविधा में फंसे रहने की वजह से बोल्ड हो गए। गेंद बल्ले के नीचले हिस्से से टकराने के बाद विकेट पर जा टकराया। दूसरी पारी में इंग्लिश कप्तान बेन स्टोक्स ने उनको विकेट के पीछे 20 रन पर कैच करवाया। इस बार कोहली अत्यधिक उछाल से चकमा खा गए और गेंद विकेट के पीछे कीपर सैम बिलिंग्स के पास पहुंची। वह इसे पकड़ने से चूके लेकिन स्लिप में खड़े जो रूट ने मुस्तैदी दिखाते हुए इसे एक हाथ से लपक लिया।