भोपाल।
 
मध्य प्रदेश में पंचायत चुनाव के पहले चरण का मतदान शनिवार सुबह से शुरू हो गया है। कुल 115 जनपद पंचायत की 8 हजार 702 ग्राम पंचायतों में मतदान होगा। पहले चरण के दौरान जिला पंचायत के 341, जनपद के 2533 सदस्य, सरपंच 8662 और 135914 पंच पदों के लिए मतदान होगा। इनमें 3 हजार 989 संवेदनशील मतदान केन्‍द्र हैं। जिलों में सुबह 7 से दोपहर 3 बजे तक मतदान होगा। इसके लिए कुल 26902 पोलिंग बूथ बनाए गए हैं।

इंदौर जिले में कुल 6 लाख 72 हजार 318 मतदाता मतदान कर जिला और जनपद सदस्य, सरपंच तथा पंच पदों के 4 हजार 962 उम्मीदवारों में से अपने नेता का चुनाव करेंगे। जिले में मतदान के लिए 1217 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। वहीं महाकाल की नगरी उज्जैन के ग्राम भैंसोदा और खुसलाखेड़ी में चुनाव नहीं होगा। भैंसोदा गांव में 796 और खुसलाखेड़ी गांव में 404 मतदाता है। लेकिन यहां किसी ने भी सरपंच पद के लिए नामांकन नहीं भरा है। इसलिए यहां चुनाव ही नहीं होगा। इन दोनों गांव में अब 6 महीने बाद चुनाव होंगे।

दोपहर 3 बजे तक चलेगा मतदान
इसी कड़ी में जनपद पंचायत बड़नगर की तीन ग्राम पंचायत सरसाना ,रणवा और नरसिंगा तीनों ही जगह सरपंच पद आरक्षित होने के चलते यहां भी यही हालात बने हैं। रणवा में सीट आरक्षित होने के चलते 800 मतदाता की पंचायत को सरपंच नहीं मिलेगा। हालांकि पंच के रूप में 14 निर्विरोध निर्वाचित हो चुके हैं। आपको बता दें कि पंचायत चुनाव में मतदान सुबह 7 बजे से शुरू हो चुका है, जो दोपहर 3 बजे तक चलेगा। मतदान के कारण ग्राम पंचायतों में अवकाश भी रहेगा। इसके साथ ही जागरूकता अभियान भी चलाया गया है, जिससे लोग ज्यादा से ज्यादा मतदान करें।