पन्ना
 पन्ना टाइगर रिजर्व का 55 वर्षीय नर हाथी इन दिनों कैद में है। इस भारी-भरकम डीलडोल वाले हाथी को बेडियों और मोटी जंजीरों से बांधकर रखा गया है। दरअसल इस हाथी ने विगत चार जुलाई को सुबह अपने ही महावत बुधराम रोटिया (56 वर्ष) को बेरहमी के साथ दांत से दबाकर मार दिया था। दिल दहला देने वाली इस घटना के बाद यह हाथी जंगल में फरार हो गया था, जिसे बड़ी मशक्कत के बाद ट्रेंकुलाइज कर जंजीरों से जकड़ा गया है।

क्षेत्र संचालक उत्तम कुमार शर्मा ने बताया कि विगत चार जुलाई को सुबह पन्ना टाइगर रिजर्व के नर हाथी रामबहादुर ने अपने महावत बुधराम रोटिया को दांत से दबाकर मारने के बाद जंगल में फरार हो गया था। चूंकि हाथी मस्‍त में है इसलिए आक्रामक और खतरनाक हो चुका है। हाथी को आबादी क्षेत्र के आसपास जाने से रोकने के लिए पूरी रात वनकर्मियों व महावतों की टीम उसे ट्रैक करती रही। मैं स्वयं जंगल में जाकर पूरी स्थिति पर नजर रखे रहा। शर्मा ने बताया कि हाथी रामबहादुर इस कदर आक्रामक हो चुका है कि महावतों को डेढ़-दो सौ मीटर दूर से ही खदेडऩे लगता है। इसके बावजूद टीम पूरे समय हाथी का पीछा करती रही।