नई दिल्ली
 विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मंगलवार को कहा कि भारत यह सुनिश्चित करने में बहुत स्पष्ट और सक्षम रहा है कि वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर यथास्थिति को बदलने के किसी भी एकतरफा प्रयास को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के ट्वीट के संबंध में भारत सरकार की आधिकारिक स्थिति के संदर्भ में एक प्रश्न पर विदेश मंत्री की यह प्रतिक्रिया आई।

गांधी ने ट्वीट में दावा किया था कि भारतीय क्षेत्र में "चीनी घुसपैठ बढ़ रही है"। जयशंकर ने कहा, "पिछले दो वर्षों में जो हुआ है, हम यह सुनिश्चित करने में बहुत स्पष्ट और बहुत सक्षम रहे हैं कि वास्तविक नियंत्रण रेखा पर यथास्थिति को एकतरफा ढंग से बदलने का कोई भी प्रयास बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।" उन्होंने कहा कि 1962 में लद्दाख सहित भारत के बड़े हिस्से पर चीन द्वारा कब्जा किए जाने के कारण चीन के साथ सीमा पर समस्याएं एक बड़े हिस्से में हैं और इनमें से कई रणनीतिक क्षेत्र हैं जो भारतीय सीमा बलों के लिए चुनौती पैदा करते हैं।

गांधी के ट्वीट के संबंध में जयशंकर ने कहा, "उनके ट्वीट में मुझे कुछ खास नया नहीं लगा, क्योंकि आप सभी जानते हैं कि सीमा पर हमारी समस्या का एक बड़ा हिस्सा इसलिए है क्योंकि 1962 में चीनियों ने आकर लद्दाख सहित बड़े क्षेत्र पर कब्जा कर लिया था।" उन्होंने कहा, "इनमें से कई रणनीतिक क्षेत्र हैं जो स्पष्ट रूप से हमारे सीमा बलों के लिए चुनौतियां पैदा करते हैं।"