टमाटर, जिसका नाम सुनते ही मुंह में पानी आने लगता है, एक ऐसी चीज है जिसका सेवन हम हर दिन किसी ना किसी रूप में करते होंगे। चाहे सुबह का नाश्ता बनाना हो या फिर लंच, बल्कि डिनर के टेबल पर रखी जाने वाली सब्जियों का जायक़ा भी टमाटर के बिना अधूरा है। ये ना सिर्फ खाने का स्वाद बढ़ाता है, बल्कि ये कुछ बीमारियों में रामबाण इलाज भी है। इसमें मौजूद लाइकोपीन एक मजबूत एंटीऑक्सिडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-कैंसर एजेंट है, जो आपको फैटी लीवर डिजीज, इंफ्लेमेशन और कई तरह के कैंसर से बचाए रख सकता है। इसके अलावा हार्ट डिजीज, ऑस्टियोपोरोसिस, डायबिटीज और फेफड़ों से जुड़ी समस्याओं से निजात दिलाने में भी टमाटर का बड़ा रोल है।

लेकिन क्या आप जानते है टमाटर खाने से सेहत को नुकसान भी पहुंचा सकता है। जी हां, टमाटर के सेवन से आपको बादी की परेशानी हो सकती है। इसके अलावा भी जरूरत से ज्यादा टमाटर खाने से सेहत को कई तरह के नुकसान हो सकते है।

टमाटर का सेवन खासकर उन लोगों को कम करना चाहिए, जिन्हें गैस की प्रॉब्लम रहती है। जी हां, जिनके दिन की शुरूआत गैस्टिक प्रॉब्लम से शुरू होती है, उनके लिए टमाटर का सेवन किसी जहर से कम नहीं है। क्यूंकि इसमें ऐसे तत्व होते है जो शरीर में बादी को बढ़ावा देते है। इसलिए जितना हो सकें इसका सेवन कम करें।

टमाटर के अन्य नुकसान

– क्यूंकि टमाटर में बहुत अधि‍क मात्रा में अम्लीयता होती है। इस वजह से इसका अधिक इस्तेमाल एसिडिटी का कारण हो सकता है। और इससे सीने में जलन और खटटी डकारें आने की शि‍कायत रहने लगती है। इसलिए जिनको एसिडिटी की समस्या हो वे टमाटर का सेवन करने से बचें।

– एक्सपर्ट की मानें तो टमाटर में कुछ ऐसे कैरोटेनॉयड्स होते हैं, जो इम्यून सिस्टम को प्रभावित करते है। और जब आप बहुत अधिक मात्रा में कच्चा टमाटर खाते है तो, इम्यून सिस्टम पर इसका बुरा असर पड़ता है।

– टमाटर से ज्यादा टमाटर के बीज नुकसानदेह होते हैं। इनके सेवन से पथरी हो सकती है। इसलिए जिन लोगों को पथरी की परेशानी है वह इसके बीज़ खाने से बचें।

– टमाटर में टरपीन्सनामक तत्व मौजूद होता है। और ये टरपीन्स आपकी शारीरिक दुर्गन्ध का कारण बन सकता है। खासकर पाचन के दौरान इसका विघटन, शरीर की दुर्गन्ध पैदा करता है। इसलिए जरूरत से ज्यादा टमाटर खाने से बचें।

– दस्त या डायरिया में टमाटर ज्यादा खाने से आपकी समस्या और बढ़ सकती है। टमाटर में साल्मोनेला नाम का एक बैक्टीरिया पाया जाता है जो डायरिया की समस्या को बढ़ाने का काम करता है। इसलिए अगर आप भी डायरिया की समस्या से जूझ रहे हैं तो कुछ दिनों के लिए टमाटर का सेवन न करें।

– ऐसे लोग जो लगातार जोड़ों के दर्द से पीड़ित हैं उन्हें टमाटर के अधिक सेवन की वजह से परेशानी और बढ़ सकती है। क्यूंकि इसकी वजह से जोड़ों में सूजन और जोड़ो में दर्द बढ़ जाता है।

– किडनी से जुड़ी बीमारियों में खानपान का ठीक होना बहुत जरूरी होता है। क्यूंकि टमाटर में कैल्शियम ऑक्सालेट अधिक मात्रा में पाए जाते हैं, जो किडनी पर बुरा असर ड़ालता है। बल्कि टमाटर का अधिक सेवन करने से किडनी स्टोन का खतरा रहता है।

टमाटर में मौजूद लाइकोपीन आमतौर पर शरीर के लिए अच्छा होता है लेकिन जब इसका सेवन75 मिलीग्राम प्रति दिन से अधिक मात्रा में किया जाता है, तो इससे लाइकोपेनोडर्मिया हो सकता है।

प्रतिदिन एक टमाटर का सेवन आपको एसिडिटी दे सकता है। दरअसल इसमें काफी अधिक मात्रा में अम्ल होता है जिससे इसका सेवन करने पर आपके पेट में अम्लीयता बढ़ती है और यह एसिडिटी का कारण बनती है।

टमाटर का जूस पीने से शरीर में खून की मात्रा बढ़ती है । और यह हीमोग्लोबिन बढ़ाने में भी काफी मदद करता है। दरअसल टमाटर में काफी मात्रा में हिमोग्लोबिन बढ़ाने वाले तत्व मौजूद होते हैं। जो शरीर के लिए आवश्यक है।

खाली पेट टमाटर का सेवन करने से यह ब्लड वेसल्स में थक्के बनने से रोकता है। जिससे दिल का दौरा और स्ट्रोक का खतरा कम होता है। इसके अलावा आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए भी खाली पेट टमाटर का सेवन करना चाहिए, क्यूंकि टमाटर में पाया जाने वाला विटामिन-ए आंखों की रोशनी के लिए फायदेमंद है।