इसमें कोई शक नहीं है कि अंडा खाने के अनगिनत स्वास्थ्य फायदे  होते हैं। अंडे खाने के फायदों में वजन कंट्रोल करना, आंखों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाना, प्रोटीन और ओमेगा-3 एसिड जैसे कई पोषक तत्व प्रदान करना आदि शामिल हैं।

अगर बात करें अंडे के पोषक तत्व की, तो यह में प्रोटीन का सबसे बढ़िया स्रोत है, साथ ही इसमें विटामिन बी 12, बायोटिन, थियामिन और सेलेनियम होता है। अंडे में सभी जरूरी नौ अमीनो एसिड होते हैं, जो शरीर की जरूरतों को पूरा करते हैं। यह विटामिन ए, बी, कैल्शियम ,फॉस्फोरस जैसे तत्वों का भी भंडार है।

रोजाना अंडे खाने से दिल को स्वस्थ रखने में मदद मिलती है। दिमाग के कामकाज को बढ़ावा देता है। हड्डियों को मजबूत बनाता है। लेकिन आपने सोचा है कि अगर आप बिल्कुल भी अंडा नहीं खाएंगे तो क्या होगा? चलिए जानते इस बारे में विज्ञान क्या कहता है।

कोलेस्ट्रॉल हो सकता है कम
एक अध्ययन के अनुसार, अंडे की जर्दी में उच्च कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक होती है। इसका मतलब यह है कि अंडे नहीं खाने से आपको कोलेस्ट्रॉल का खतरा कम हो सकता है। अगर आप हर हफ्ते एक से कम अंडे खाते हैं, तो आप सुरक्षित हो सकते हैं।

मुंहासे और ब्रेकआउट से हो सकता है बचाव
एक रिपोर्ट के अनुसार, मुंहासे प्रोजेस्टेरोन हार्मोन के बढ़ने से होते हैं जोकि अंडे में ज्यादा पाया जाता है। वैसे तो शरीर इन हार्मोनों का उत्पादन स्वयं करता है, लेकिन अंडे खाने से आप अपने शरीर में अतिरिक्त हार्मोन को जोड़ रहे हैं। इसलिए अगर आपको अचानक से त्वचा पर कुछ धब्बे दिखाई दें, तो आप देखना चाहेंगे कि आप कितनी बार अंडे का सेवन करते हैं।

हृदय रोग का जोखिम हो सकता है कम
आप रोजाना एक अंडा खा सकते हैं जो सेहत के लिए फायदेमंद है। अगर आप डायबिटीज जैसी स्वास्थ्य स्थिति से पीड़ित हैं, तो इतने अंडे खाने से हृदय रोग होने की संभावना बढ़ सकती है। एक अध्ययन में यह भी पाया गया कि जो पुरुष प्रतिदिन एक से अधिक अंडे खाते हैं, उनमें इस स्थिति के विकसित होने का अधिक जोखिम होता है।

ब्लोटिंग से मिलेगा छुटकारा
एक रिपोर्ट के अनुसार, अंडे कुछ लोगों के लिए एक बढ़िया नाश्ता भोजन हो सकता है, लेकिन कई लोगों को अंडे खाने के बाद पेट फूला हुआ या गैस महसूस हो सकती है। यह न केवल आपको फूला हुआ बनाता है, बल्कि आप कुछ पेट दर्द, सिरदर्द और तनाव का भी अनुभव कर सकते हैं।

कब्ज से हो सकता है बचाव
अंडे में भरपूर प्रोटीन होता है, लेकिन उनमें कोई फाइबर नहीं होता है, जो पाचन में मदद करता है। फाइबर की कमी से कब्ज हो जाता है। इसका मतलब यह है कि अगर आप अंडे नहीं खाते हैं, तो आप कब्ज से बच सकते हैं। अंडे को हमेशा हाई फाइबर वाले खाद्य पदार्थों के साथ खाएं।