धार
कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ पंकज जैन बुधवार को पुलिस अधीक्षक श्री अदित्य प्रताप सिंह के साथ कुक्षी, डही और निसरपुर क्षेत्र के ग्रामीण इलाकों का भ्रमण किया। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के मद्देनजर व्यवस्थाओं की पड़ताल और मतदान केंद्रों तक मतदान दलों के पाने,जाने की निर्बाध व्यवस्था भृमण का उद्देश्य था। इस दौरान वे टाण्डा, सुसारी, पढ़ियाल, बढ़वान्या, अत्तरसुमा, जामदा, धरमराय तथा पिपल्या आदि ग्राम स्थित मतदान केंद्र पहुँचे। ग्रामीणों से चर्चा के दौरान कलेक्टर बोले वोट के लिए बहकावें में न आवे, प्रलोभन न स्वीकारे, कोई धमकाए तो शिकायत करें। एसडीएम नवजीवन पवार साथ थे।

कलेक्टर डॉ जैन ने विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रो के मतदान केन्द्रो का निरीक्षण कर वहॉ उपलब्ध कराई गई सुविधाओं एवं व्यवस्थाओं को देखा, वहीं सुरक्षा व्यवस्था हेतु की गई एवं की जाने वाली व्यवस्थाओं की भी जानकारी मौके पर उपस्थित एसडीएम एवं पुलिस पदाधिकारियों से प्राप्त की। कलेक्टर डॉ जैन ने डही तथा निसरपुर के शा. विद्यालय में बने स्ट्रांग रूम का अवलोकन किया। साथ ही मत पेटियों के साथ वितरित की जाने वाली मतदान सामग्रियों के बारे में पूछताछ की। साथ ही डही के शा. विद्यालय एवं मंडी में मतदान दलों को विभिन्न रूटों पर ले जाने के लिए की गई वाहन पार्किंग व्यवस्था का अवलोकन किया।

निरीक्षण के दौरान कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने मतदान केन्द्रो का निरीक्षण करने के उपरान्त मौके पर उपस्थित ग्राम पंचायतो के सचिवों एवं जनपद पंचायत सीईओ को वर्षा के मददेनजर की जाने वाली व्यवस्थाओं एवं मतदान कर्मियो को मतदान केन्द्रो पर रात्रि में रूकने एवं मतगणना के दिन देर हो जाने पर लगने वाली विद्युत व्यवस्था का भी निरीक्षण कर आवश्यक निर्देश दिये । उन्होंने राजस्व एवं पुलिस अधिकारियों को कहा कि मतदान के दिन किसी प्रकार की भी अव्यवस्था न हो, निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देशो का पूरी तरह से पालन हो, यह हर-हाल में सुनिश्चित किया जाये।

कलेक्टर डॉ जैन ने मतदान केन्द्रों में स्वच्छता, विद्युत व्यवस्था, पेयजल, फर्नीचर, पहुँच मार्ग, दिव्यांग मतदाता हेतु रैम्प एवं अन्य आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित कराये जाने के निर्देश अधिकारियों को दिये। मतदान दलों हेतु सामग्री वितरण-वापसी कार्यस्थल, परिवहन एवं अन्य की गई तैयारियों के विषय में जानकारी ली। उन्होंने निर्वाचन हेतु नियुक्त अधिकारियों से शांतिपूर्ण, निर्विघ्न और निष्पक्ष निर्वाचन एवं सौपे गये दायित्वों का निर्वहन समय पर किये जाने के निर्देश प्रदान किये।