श्याेपुर
श्याेपुर के मजापुर गांव में सीप नदी में नहाने गईं तीन लड़कियां पानी में डूब गईं। इन बच्चियाें के साथ माैजूद चाैथी लड़की ने जब उन्हें बचाने की काेशिश की ताे वह भी डूबने लगी। जब वहां बकरियां चराने वाले चरवाहाें ने यह देखा ताे उनकाे बचाने का प्रयास शुरू किया। एक लड़की ताे ताे बचा लिया गया, लेकिन तीन लड़कियां डूब गईं। घटना की सूचना मिलते ही माैके पर पहुंची पुलिस और प्रशासन ने बच्चियाें की खाेजबीन शुरू की। कुछ देर में ही तीनाें शव बरामद कर लिए गए हैं।

श्याेपुर के मजापुर गांव निवासी ललिता पुत्री भागचंद उम्र 14 साल, रीना पुत्री पप्पू बैरवा उम्र 13 साल, रानी पुत्र फाेटू बैरवा उम्र 10 साल, आरती पुत्री पप्पू बैरवा उम्र 21 साल आज दाेपहर 12.30 बजे सीप नदी पर नहाने गईं थी। इलाके में बारिश हाेने के कारण सीप नदी में जल स्तर बढ़ गया था। उधर तीनाें बच्चियां नहाते-नहाते गहरे पानी में चली गईं और डूब गईं। आरती ने जब यह देखा ताे उनकाे बचाने का प्रयास किया, लेकिन इस दाैरान आरती भी डूबने लगी। जब वहां माैजूद चरवाहे मानसिंह, लाेकेशन और सत्यवीर ने यह देखा ताे वह बचाने के लिए दाैड़े, आरती काे ताे उन्हाेंने बचा लिया, लेकिन बाकी तीन बच्चियां डूब गईं। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारी माैके पर पहुंच गए। खाेजबीन शुरू की गई ताे कुछ समय बाद तीनाें बच्चियाें के शव पुलिस काे मिल गए हैं।