भोपाल

राजधानी में लगातार साइबर धोखाधड़ी की घटनाएं बढ़ती जा रही है। अगर पिछले चार साल के रिकॉर्ड पर नजर डालें तो तो साइबर ठगों ने पांच लाख करोड़ से अधिक रुपए की ठगी की है। अगर भोपाल की बात करें तो पिछले पांच महीनों में साइबर क्राइम के पास 18 सौ के करीब शिकायतें पहुंची। इनको मिलाकर 7 करोड़ रुपये साइबर ठग भोपालियों के खाते से चुरा चुके हैं।

प्रदेश में आनलाइन ठगी के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। पिछले चार वर्षों में साइबर अपराधियों ने खातों में सेंध लगाकर 5 लाख 54 हजार करोड़ रुपए से अधिक गायब कर दिए। साइबर ठगों ने 3 हजार से अधिक लोगों के बैंक एकाउंट को साफ कर दिया है। साल 2021 में सबसे ज्यादा सायबर अपराध हुए हैं। यह जानकारी विधानसभा में एक सवाल के जवाब में सामने आई थी। वर्ष 2018 से फरवरी 2022 तक दौरान 3 हजार तीन सौ से अधिक अपराध विभिन्न सायबर थानों और उप थानों में दर्ज हुए हैं।  इन मामलों के दर्ज होने के बाद 5 लाख 54 हजार करोड़ रु पए में से 68 हजार करोड़ रुपए पीड़ितों के वापस कराने में पुलिस कामयाब रही है।  वर्ष 2019 और 2020 में  साइबर क्राइम में लगातार कमी आई है, लेकिन वर्ष 2021 में 30 फीसदी से अधिक वृद्धि हुई है। जो लगातार जारी है। लोग साइबर ठगों के लालच में आकर अपनी राशि गंवा रहे हैं।

Also Read:

जिन लोगों ने घटना के शिकार होने के 24 घंटे के अंदर पुलिस को सूचना दे दी, उन लोगों के करीब 35 लाख रूपये  पुलिस खाते में वापस करा चुकी है। इसके अलावा 15 लाख रु पये पकड़ में आए साइबर ठगों के खाते से बरामद किए जा चुके हैं। उसके बाद भी यह ऑनलाइन धोखाधड़ी के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। साइबर क्राइम के अधिकारियों का कहना है कि ऑनलाइन लेन-देन करते समय हमेशा सावधानी बरतें और किसी लालच में नहीं आए। तभी इस प्रकार की ठगी से बचा जा सकता है। जानकारी के मुताबिक भोपाल साइबर क्राइम पुलिस इन दिनों सबसे अधिक परेशान ओटीपी धोखाधड़ी को लेकर है, सबसे अधिक शिकायतें इसी प्रकार से लोगों के साथ धोखाधड़ी की हो रही है। अलग-अलग तरीके से लोगों को झांसा देकर साइबर ठग उनसे ओटीपी हासिल कर रहे हैं और उनके खाते में रकम निकाल रहे हैं। जो लोग समय रहते शिकायत कर रहे हैं साइबर क्राइम उनकी रकम को तत्काल फ्रिज कराने की कोशिश करती है। अभी तक करीब 35 लाख रु पये की राशि को साइबर क्राइम वापस कर चुकी है और 15 लाख रु पए की राशि जो साइबर ऑनलाइन ठगों को गिरफ्तारी के दौरान के खातों से मिली है उसे जब्त कर चुकी है। इस तरह से पुलिस लगातार साइबर अपराधियों पर अपना शिकंजा कस रही है।

5 लाख के करीब रोजाना ठगी…
साइबर क्राइम के आंकड़े साफ साफ बता रहे हैं कि राजधानी में रोजाना करीब पांच लाख की ऑनलाइन धोखाधड़ी रोजाना हो रही है। इसलिए लोगों को आप ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है। लोग लाटरी के नाम पर फोन, इनाम के नाम, नौकरी के नाम प्रक्रि या के तहत उनके जाल में रोजाना फंसकर उनको ओटीपी बता रहे हैं।