अक्सर ग्रेवी वाली सब्जी बनाते समय हम उसमें दही का इस्तेमाल करते हैं। ये ना सिर्फ ग्रेवी को स्वादिष्ट बनाता है, बल्कि इससे सब्जी का रूप रंग निखर जाता है और सब्जी की ग्रेवी रिच हो जाती है। लेकिन अक्सर ऐसा होता है कि जब हम किसी ग्रेवी वाली सब्जी में दही का इस्तेमाल करते हैं, तो सब्जी में डालते से ही दही फट जाता है और इससे पूरी सब्जी का स्वाद और रूप बिगड़ जाता है। तो चलिए आज हम आपको बताते हैं ऐसी ट्रिक्स जिसके जरिए आप जब भी सब्जी में दही डालेंगे तो यह फटेगा नहीं और ग्रेवी का स्वाद भी बढ़ जाएगा…

सब्जी में दही डालने का सही तारीका
पनीर से लेकर चिकन, मटन या बेसन गट्टे की सब्जी में दही का इस्तेमाल होता है। लेकिन अक्सर दही डालने के तुरंत बाद यह फट जाता है। ऐसे में जब भी आप किसी ग्रेवी में दही मिलाए तो सबसे पहले दही को अच्छी तरह से फेंट लें। आप चाहे तो इसके लिए हैंड ब्लेंडर या विस्क का इस्तेमाल कर सकते हैं।

इसके अलावा सब्जी में दही डालते समय आप एक साथ पूरा दही नहीं डालें। इससे दही फटकर दानेदार हो जाता है। ऐसे में ग्रेवी में हमेशा थोड़ा-थोड़ा करके दही डालें और इसे लगातार चलाते हुए मिलाएं।

किसी भी सब्जी में दही डालते समय गैस की आंच को बिल्कुल धीमें कर दे या फिर गैस को बंद कर दें। ऐसे में दही फटता नहीं है। अगर आप तेज आंच में दही को डालेंगे तो ये एकदम से फट जाएगा।

सब्जी में दही डालने के बाद इसे ऐसे ही मत छोड़िए इसे एक उबाल आने तक लगातार चलाते रहें। जब इसमें एक उबाल आ जाए तो आप गैस को बंद कर दीजिए। बहुत ज्यादा देर दही को ग्रेवी में नहीं पकाना चाहिए।

कोशिश करें कि दही को तभी सब्जी में मिलाएं जब सब्जी पूरी तरह से पक गई हो। कच्ची सब्जी में दही मिलाने से दही का स्वाद बिगड़ जाता है और ग्रेवी भी रिच नहीं बनती है।

बता दें कि दही का इस्तेमाल ना सिर्फ सब्जी की रिचनेस को बढ़ाता है बल्कि जब कभी आपकी सब्जी में नमक या मिर्च ज्यादा हो जाए तो आप दही का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा चिकन, मटन या फिर पनीर को मैरिनेट करने के लिए भी सब्जी में दही का इस्तेमाल किया जा सकता है।